देश की राजधानी दिल्ली में गर्मी का प्रकोप जारी है. भीषण गर्मी के बीच बिजली की खपत भी बढ़ती जा रही है. दिल्ली में मंगलवार को बिजली की खपत रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई. राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को बिजली की खपत ने सोमवार के रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर दिया. दिल्ली में मंगलवार को बिजली की खपत 7,409 मेगावाट तक पहुंच गई. इससे पहले सोमवार को दिल्ली में बिजली की खपत 7241 मेगावाट तक पहुंच गई थी.

वहीं पिछले साल बिजली की मांग 7,016 मेगावाट तक पहुंच गई थी. अब बढ़ती मांग के साथ सभी पुराने रिकॉर्ड टूट रहे हैं. इससे पहले राज्य लोड डिस्पैच सेंटर के अधिकारी ने कहा कि पिछले साल की मांग को पार करते हुए 1 जुलाई को दोपहर 3.30 बजे तक ऑल टाइम पीक पावर डिमांड 7,241 मेगावाट पर पहुंच गई है.

उन्होंने कहा कि पिछले साल 9 जुलाई, 2018 को यह मांग 7,016 मेगावाट थी जो इस बार एक हफ्ते पहले ही रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है.

अधिकारियों के मुताबिक इससे पहले 2 जून को सबसे अधिक बिजली की मांग 6,560 मेगावाट रही थी, जो 6 जून 2017 की मांग से अधिक थी. 6 जून 2017 को  बिजली की मांग 6,526 मेगावाट थी.

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में बिजली का नेटवर्क इतना मज़बूत हो गया है कि इतने लोड के बावजूद आपूर्ति में किसी किस्म की बाधा नहीं आई. कहीं से कोई बिजली के ब्रेकडाउन की खबर नहीं है. उन्होंने कहा, मुझे ख़ुशी है कि अब दिल्ली के लोगों को 24 घंटे बिजली मिल रही है और सबसे सस्ती बिजली मिल रही है.