दिल्ली के कड़कड़डूमा इलाके में स्थित दिल्ली स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय (डीजीएचएस) की बिल्डिंग में शुक्रवार दोपहर बाद भीषण आग लग गई. आग बुझाने के लिए दमकल विभाग की 22 गाड़ियां पहुंची थीं. डीजीएचएस की बिल्डिंग में लगी आग बुझाने के लिए दमकल विभाग को 4 घंटे तक ऑपरेशन जारी रखना पड़ा.

जब बिल्डिंग में आग लगी उस वक्त लंच टाइम होने की वजह से ज्यादातर लोग बिल्डिंग से बाहर थे, या बाहर जाने की तैयारी कर रहे थे. इस बिल्डिंग में 2 इमरजेंसी गेट हैं. यही वजह है कि आग लगने के बाद लोग सुरक्षित बाहर निकल गए. इतने बड़े हादसे में किसी भी शख्स को नुकसान नहीं पहुंचा.

दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आग लगने की सूचना उन्हें दोपहर 1.30 बजे मिली थी. इसके आग पर काबू पाने के लिए अग्निशमन विभाग ने 22 दमकल गाड़ियों को मौके के लिए रवाना किया गया.  आग बुझाने के लिए 60 कर्मचारी मौके पर पहुंचे.

पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने भी इस हादसे पर ट्वीट किया है. उन्होंने दमकल विभाग की त्वरित कार्रवाई की तारीफ की है. गौतम गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा कि उन्होंने दिल्ली के डीसीपी से बातचीत की. डीसीपी ने आश्वस्त किया कि इस हादसे में किसी को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

इससे पहले दिल्ली के रंजीत नगर में शादीपुर के पास स्थित साईं कॉम्प्लेक्स की एक बिल्डिंग में आग लगी थी. बिल्डिंग से 7 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया लेकिन एक की दम घुटने की वजह से मौत हो गई. यह बिल्डिंग सत्यम सिनेमा के पास स्थित है. इस बिल्डिंग को ठेके वाली बिल्डिंग के नाम से भी जाना जाता है. बता दें इससे पहले बुधवार सुबह दिल्ली के नरेला में बुधवार तड़के आग लग गई. शार्ट सर्किट की वजह से लगी इस आग पर कई घंटों की मशक्कत पर काबू पाया जा सका.