कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके राहुल गांधी पार्टी के सासंदों से कांग्रेस के वॉर रूम कहे जाने वाले 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित कार्यालय पर एक कार्यक्रम में मुलाकात करेंगे. इस्तीफा देने के बाद राहुल गांधी पहली बार इस तरह नए सांसदों के साथ औपचारिक मुलाकात कर रहे हैं.

माना जा रहा है कि इस कार्यक्रम में पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी शामिल हो सकते हैं. इस मीटिंग में राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के सांसदों को संबोधित भी करेंगे.

इससे पहले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) की अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस के लोकसभा सांसदों की बैठक हुई थी. बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे. बैठक में कांग्रेस के 51 सांसद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को इस्तीफा वापस लेने को लेकर नहीं मना पाए थे.

राहुल गांधी ने पार्टी सांसदों से कहा है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष नहीं रहेंगे. कांग्रेस सांसद शशि थरूर और मनीष तिवारी ने राहुल को अध्यक्ष बने रहने के पक्ष में तर्क दिया कि हार सिर्फ आपकी जिम्मेदारी नहीं बल्कि सामूहिक है, लेकिन राहुल फिर भी हार की नैतिक जिम्मेदारी अपनी मानते हुए अध्यक्ष नहीं बने रहने का फैसला दोहराए. बैठक में सभी 51 सांसदों ने अपील की, लेकिन राहुल उनकी बात मानने से इनकार कर दिए.