लॉस एंजेलिस : अमेरिका के वैंकूवर से सिडनी जा रही एयर कनाडा फ्लाइट (बोइंग 777-200) गुरुवार को हादसे का शिकार होने से बच गई। उड़ान भरने के दो घंटे बाद ही विमान अचानक खतरनाक टर्बुलेंस में फंस गया। तब यह हवाई द्वीप के ऊपर 36 हजार फीट की ऊंचाई पर था। तेज झटकों की वजह से 35 से ज्यादा यात्रियों को सिर और गर्दन पर चोट आईं। घटना के वक्त विमान में 269 यात्री और 15 क्रू मेंबर सवार थे।

एयरलाइंस ने बयान में कहा, ''यात्रियों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। टर्बुलेंस के बाद पायलट ने होनोलुलु एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई। यहां यात्रियों के इलाज और इमरजेंसी सर्विस के इंतजाम पहले से कर लिए गए थे। जख्मी यात्रियों को तुरंत प्राथमिक इलाज दिया गया। 9 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।'' एक यात्री मिशेल बैली ने बताया कि हमें टर्बुलेंस की वजह से अचानक तेज झटके लगने लगे। कई लोगों के सिर विमान की छत से टकराए।