...बिगाड़ने वालों से बचाना होगी हमारी हिन्दी

On Date : 10 September, 2015, 2:57 PM

एक अरब से ज्यादा लोग हिन्दी बोलते हैं। यह आंकड़ा इतना बड़ा है कि कई देशों की जनसंख्या शरमा जाए। फ्रेंच, जर्मन, स्पेनिश जैसी कई भाषाएं पानी भरती नजर आएं, लेकिन बात होती है हिन्दी को बचाने की। बात होती........

कातिल पर भारी ‘कलामाना’ करिश्मे

On Date : 30 July, 2015, 2:17 PM

देश पर निसार होने का सिलसिला क्रांतिकारी अशफाकउल्ला खां से लेकर परमवीर चक्र विजेता हवलदार अब्दुल हमीद और राष्ट्रवादी गुरू एपीजे अब्दुल कलाम तक यूं ही नहीं चला आ रहा है। हर नागरिक अधिकारों की रक्षा के लिए बिना भेदभाव........

ऋषि परंपरा के अद्भुत नेता

On Date : 24 December, 2014, 3:12 PM

भारतीय राजनीति के दैदीप्यमान नक्षत्र अटल बिहारी वाजपेयी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ मिलना ऋषि परंपरा के राजनेता का सम्मान है। देश के हृदय प्रदेश - मध्यप्रदेश का सीना आज अपने सपूत के सम्मान से और चौड़ा हो गया........

सबसे अनोखे अटलजी...

On Date : 24 December, 2014, 2:59 PM

अटल बिहारी वाजपेयी के आलौकिक व्यक्तितव  से भारतीय राजनीति का कोई भी अंग अछूता नही है। एक कुशल राजनेता, प्रशासक, कूटनीतिज्ञ, प्रखर वक्ता एवं ओजस्वी कवि के रूप में समस्त देशवासियों के हृदय में उनका शीर्षस्थ स्थान है। सन 1940........

बाबू , काम नहीं किया तो होगा हिसाब...

On Date : 26 April, 2014, 2:43 PM

रूमी जाफरी, लेखक-फिल्मकार हर चुनाव में नेताओं के भाषण, नारे, वादे सुन कर ऐसा लगता है कि एक ही स्क्रिप्ट है जिसे चुनाव-दर-चुनाव दोहरा दिया जाता है, लेकिन इस बार मामला कुछ अलग है। इस बार जनता इतनी जागरूक हो गई........

नेताजी... डिंपल से पूछो क्या बोल गए आप...

On Date : 11 April, 2014, 2:30 PM

मु लायम सिंह यादव जी....आप केवल समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के ‘सुपर सीएम’ भर नहीं हैं। समर्थक और आपसे जुड़ा एक वर्ग...आपको, देश की नंबर वन कुर्सी (प्रधानमंत्री पद) का योग्य उम्मीदवार...बतला रहा है। सत्ता हासिल करने के........

ख़ुशवंत सिंह का निधन

On Date : 20 March, 2014, 4:20 PM

भारत के प्रख्यात लेखक और जाने माने वरिष्ठ पत्रकार ख़ुशवंत सिंह का 99 वर्ष की आयु में निधन हो गया।ख़ुशवंत सिंह के पत्रकार पुत्र राहुल सिंह ने बताया कि दिल्ली के सुरज सिंह पार्क स्थित अपने आवास में बड़े शांत........

‘नोटा से रिजेक्ट कौन ना-लायक नेता या लोकतंत्र

On Date : 08 October, 2013, 4:09 PM

मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव मतदाताओं को मिलने वाले राइट टू रिजेक्ट का नोटा बटन (नन आफ द अबव) लोकतंत्र की दिशा में क्या रिजल्ट देने वाला है, इसका सभी को इंतजार है। यह पौराणिक कथा सागर मंथन........

गांधी के गुजरात और कांग्रेस के गांधी का द्वंद्व

On Date : 02 October, 2013, 2:40 PM

आज 2 अक्टुबर है गांधी जयंती। महात्माजी की 145वीं जयंती के दिन देश की यूपीए -2 सरकार दागी नेताओं के संबंध में जारी अपने अध्यादेश के बारे में पुनर्विचार करने वाली है। राजनीति में शुद्धता और शुचिता क ा तकाजा........

लोकतंत्र की धमनियों में जमा चर्बी का इलाज

On Date : 27 September, 2013, 1:54 PM

लोकसभा और विधानसभा चुनाव में ‘निगेटिव वोटिंग’ का अधिकार मतदाताओं को मिले या न मिले, यह पिछले साठ सालों से देश में बहस का विषय रहा है। आज सुप्रीम कोर्ट ने निगेटिव वोटिंग के वजूद को एक राजनीतिक सच्चाई में........

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार