भागदौड़ भरी जिंदगी में महिलाएं अपनी सेहत को नजरअंदाज कर देती हैं। इसके कारण उन्हें बदन व सिरदर्द, पेट दर्द, थकान, सर्दी-खांसी जैसी समस्या जल्दी जकड़ लेती हैं। मगर रोजमर्रा में होने वाली यही छोटी-मोटी प्रॉब्लम्स बाद में गंभीर बीमारी का रुप ले लेती हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हम आपको ज्यादा कुछ नहीं बस एक ही उपाय बताएंगे और वो है पैरों की मसाज। इससे आप कई समस्याओं से छुटकारा पा सकती हैं।

क्यों फायदेमंद है पैरों की मसाज?
दरअसल, पैरों की मसाज करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और खून के थक्के भी नहीं जमते। इससे ना सिर्फ थकान बल्कि कई हैल्थ प्रॉब्लम्स दूर होती है।

मालिश करने का तरीका
इसके लिए सबसे पहले एक टब मेें गुनगुना पानी भरिए और फिर उसमें सरसों या नारियल तेल की 5-6 बूंदे डाल लें। अब इसमें 10 मिनट के लिए पैरों को डुबो कर रखें और फिर बाहर निकाल कर तौलिए से पैरों को पौंछ लें। अब तेल को हल्का गुनगुना करके पैरों के तलवों की अच्छी तरह मसाज करें और फिर रातभर यूं ही छोड़ दें।
किस तेल से करें मालिश

पैरों की मसाज के लिए पुदीने, लौंग, नीलगिरी, जैतून, अरंडी, सरसों या नारियल तेल बेस्ट ऑप्शन है।

चलिए अब हम आपको बताते हैं कि पैरों के तलवों पर मसाज करने से आपको क्या-क्या फायदे मिलेंगे...

ब्लड सर्कुलेशन
पैरों की 10-15 मिनट मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है। इससे पैरों में दर्द और सुन्न पड़ने, थकान सिरदर्द जैसी समस्याएं दूर होती है।

तनाव
इससे दिमाग शांत होता है और नवर्स सिस्टम भी ठीक रहता है, जिससे तनाव कम होता है। साथ ही इससे आप डिप्रेशन से भी बची रहती हैं।

दर्द से राहत
घुटनों या पैरों में तेज दर्द होने पर भी तलवों का मालिश करना फायदेमंद रहता है। इससे मांसपेशियों को आराम मिलता है जिससे दर्द दूर होती है।

ब्लड प्रैशर
पैरों तक रक्त का प्रवाह सही तरीके से न पहुंच पाने की वजह से शरीर का ब्लड प्रैशर बढ़ जाता है। ऐसे में पैरों की मालिश करने से रक्त चाप संतुलित रहता है।

जोड़ों के दर्द से राहत
पैरों की मसाज से जोड़ों के दर्द और मांसपेशियों में तनाव भी कम होता है। साथ ही इससे शरीर में होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है।

पीरियड्स प्रॉब्लम्स
पीरियड्स में होने वाले लक्षण जैसे अनिंद्रा, चक्कर, चिंता आदि की समस्या से भी आराम मिलता है।

वजन कम करें
फुट मसाज से वजन कम करने में भी काफी मदद मिलती है। यह आपके मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाता है और बॉडी को डिटॉक्स भी करता है, जो वेट लूज में
काफी फायदेमंद है।

सिर दर्द और माइग्रेन
सिर दर्द और माइग्रेन की समस्या भी कम होती है। यही नहीं, फुट मसाज साइनस इंफैक्शन से भी आराम से दिलाता है।

अच्छी नींद
महिलाएं को अक्सर यह समस्या आती है कि उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती या वो ठीक से सो नहीं पाती। ऐसे में पैरों की मसाज करना आपके लिए फायदेमंद होगा है।

प्रेगनेंसी में फायदेमंद
लंबे समय तक खड़े रहने या गर्भावस्था के दौरान आई पैरों में सूजन भी मसाज से कम होती है।