देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. इस बीच देश की राजधानी दिल्ली से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. दिल्ली में पुलिस ने एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है, जो झाड़-फूंक से कोरोना खत्म करने की अफवाह फैला रहा था और लोगों को बहका रहा था.

पश्चिमी दिल्ली के ख्याला थाना पुलिस ने इस गिरोह को पकड़ा है. यह गिरोह भीड़ जुटाकर उनको तंत्र-मंत्र की कहानियां बताकर लोगों को घर से बाहर निकलने के लिए कह रहा था. मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने अलग-अलग मामलों में लगभग 47 लोगों को पकड़ा है. जिन पर मामला दर्ज कर पुलिस पूछताछ कर रही है.

पुलिस ने बताया कि ये गिरोह इलाके में लोगों को घरों से बाहर निकालने के लिए झाड़-फूंक और तंत्र की बातें बता रहा था. साथ ही लोगों को झाड़-फूंक से कोरोना खत्म करने के लिए गुमराह कर रहा था. ये लोग कई जगहों पर भीड़ लगाकर लोगों को बहकाते हुए नजर आए.

पुलिस के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान अधिकतर लोग अपने घरों में हैं. वहीं पुलिस भी लगातार इलाकों में गश्त कर लोगों को घरों में रहने की अपील कर रही है. इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि ख्याला इलाके में लोगों की भीड़ लगी हुई है. सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची. वहीं पुलिस के पहुंचते ही लोगों में भगदड़ मच गई.

पुलिस ने बताया कि ख्याला इलाके में लोगों की भीड़ को लेकर उन्हें सुबह से शाम तक 30 से ज्यादा कॉल मिली. जिसके बाद आरोपियों को पकड़ा गया. वहीं हैरानी वाली बात ये रही कि सभी मामलों में आरोपियों ने एक जैसी कहानी बताई.

आरोपियों ने बताया कि वे लोगों को इकट्ठा कर बता रहे थे कि कोरोना वायरस कुछ नहीं होता. इससे कुछ नहीं होने वाला, सरकार झूठा आदेश जारी कर रही है. अगर जीना है तो घरों से बाहर निकलें. अगर कुछ हुआ तो झाड़-फूंक से बीमारी खत्म हो जाएगी.

फिलहाल पुलिस ने सरकारी आदेशों की अवहेलना करने और लॉकडाउन के आदेशों का पालन नहीं करने के आरोप में सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें हिरासत में ले लिया है. साथ ही मामले में आगे की जांच की जा रही है. वहीं पुलिस यह जानने की कोशिश भी कर रही है कि आखिर यह गिरोह किसके लिए काम कर रहा है.