मुंबई: एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार बनेगी और 5 साल तक चलेगी. उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार के लिए धर्मनिरपेक्षता जरूरी है. पवार ने कहा कि हम धर्मनिरपेक्षता की बात करने वाले लोग हैं.

शरद पवार ने कहा कि गठबंधन सरकार बनने की प्रकिया जारी है. बता दें महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना , राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार शाम को बैठक की. इसमें सरकार बनाने के लिए न्यूतम साझा कार्यक्रम तैयार करने के लिए कमेटी का गठन किया गया.

NCP leader Sharad Pawar on Maharashtra government formation: The process to form government has begun, the government will run for full 5 years. pic.twitter.com/fJ8HOD6u9N

— ANI (@ANI) November 15, 2019

इस कमेटी में शिवसेना , एनसीपी और कांग्रेस के 5-5 सदस्य रखे गए हैं. सूत्र बताते हैं कि गठबंधन से पहले कांग्रेस चाहती है कि शिवसेना कट्टर हिंदुत्व के मुद्दे के बजाय धर्मनिरपेक्षता पर भरोसा दे. बताया जा रहा है कि सरकार गठन के लिए 17 सितंबर को कांग्रेस  और एनसीपी के नेता दिल्ली में बैठक कर सकते हैं.

इससे पहले शुक्रवार को महाराष्ट्र  में गठबंधन सरकार को लेकर एनीसीपी नेता नवाब मलिक ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री शिवसेना से ही होगा. शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेसगठबंधन पर बोलते हुए मलिक ने कहा कि सीएम की शर्त पर ही शिवसेना ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ा है.

नवाब मलिक ने कहा, 'सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि शिवसेना का सीएम होगा क्या, सीएम पोस्ट को लेकर ही शिवसेना-बीजेपी के बीच में विवाद हुआ था तो निश्चित रूप से मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा. उन्होंने कहा कि शिवसेना को अपमानित किया गया. उनका स्वाभिमान बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है.'