नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मौजूदा राजनीतिक हालात पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच दिल्ली में मुलाकात हुई. इस मुलाकात के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र के राजनीतिक स्थिति पर बातचीत कीं. पवार ने स्पष्ट किया कि सोनिया गांधी के साथ महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई. सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस और एनसीपी के प्रतिनिधमंडल में शामिल नेता बातचीत करेंगे.

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि उन्होंने सोनिया गांधी को महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात के बारे में विस्तार से बताया. इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटेनी भी मौजूद रहे. पवार ने कहा कि आगे की रणनीति पर दोनों दलों के नेता आपसी बातचीत में तय करेंगे.

एनसीपी प्रमुख से जब पूछा गया कि वह किसके साथ हैं, इसपर उन्होंने बेहद गोलमोल जवाब दिया कि वह सबके साथ हैं. पवार के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं.

यहां आपको बता दें कि सोमवार को ही राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की तारीफ की, जिसके बाद से नए राजनीतिक समीकरण बनने की अटकलें चल रही हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के 23 अक्टूबर को नतीजे आए थे, जिसमे बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को बहुमत मिला था. हालांकि शिवसेना ने बीजेपी के सामने ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की डिमांड रख दी, जिसके चलते सरकार नहीं बन पाई है. शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस का साथ लेकर सरकार बनाने की कोशिश कर रही है. फिलहाल महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू है.