अनुलोम-विलोम करने का तरीका

सर्दियों के दिन हैं तो जमीन पर बैठने के लिए कोई मोटा या गर्म कपड़ा लें। जमीन पर चौंकड़ी लगाकर बैठ जाएं। अब एक नाक पर अंगुली रखकर दूसरी साइड नाक से सांस अंदर की तरफ लें। फिर कुछ देर अपनी सांस रोके रखें, जितनी देर तक हो सके। उसके बाद अंगुली हटाकर दूसरी साइड नाक पर रखें, और दूसरी साइड नाक की तरफ से अंदर खींची हुई सांस बाहर छोड़ दें। ऐसा तब तक करें, जब तक आपको अच्छा लगे। शुरु-शुरु में ऐसा 5 मिनट  तक करें फिर धीरे-धीरे समय की अवधि बढ़ा दें।
अनुलोम विलोम करने के फायदे

-हर रोज 10 मिनट अनुलोम-विलोम करने से आप खुद को तनाव मुक्स महसूस करते हैं।

-आंखों की रोशनी के लिए यह एक फायदेमंद आसन है।

-प्रेगनेंट महिलाओं के लिए यह आसन बहुत फायदेमंद और आरामदायक है। इसे करने से मां और बच्चे दोनों को फायदा मिलता है।
-हर रोज इस आसन को करने से आपका ब्रेन अच्छे से काम करता है।

-जिन लोगों को रात में नींद नहीं आती उनके लिए यह आसन काफी फायदेमंद है।

-हर रोज 10 मिनट इसे करने से आपके चेहरे पर नेचुरल ग्लो आता है।

-इन सबके अलावा यह आसन आपका वजन कम करने, आपको एनर्जेटिक रखने और बॉडी को डिटॉक्सीफाई करने में आपकी मदद करता है।
सावधानियां

-दमे के पेशेंट इसे बहुत ही सहज और घरवालों की निगरानी में करें।

-अनुलोम-विलोम करते वक्त आपका आसपास एक दम साफ होना चाहिए, ताकि धूल के कण सांस के जरिए आपके अंदर न चले जाएं।

-इस आसन को जितना धीमा करेंगे यह उतना फायदा करेगा