मनीला : भारतीय पुरुष टीम को एशियाई टीम चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में मौजूदा चैंपियन इंडोनेशिया के खिलाफ कड़े संघर्ष में हार का सामना करना पड़ा. दिग्गज खिलाड़ियों की गैरमौजदूगी में भारतीय टीम को शनिवार को हुए मुकाबले में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

लगातार तीसरे खिताब की तलाश में लगी इंडोनेशिया ने भारतीय को 3-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया, जहां अब खिताब के लिए उसका सामना रविवार को मलेशिया के साथ होगा.

भारतीय टीम अपने स्टार खिलाड़ियों पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 किदांबी श्रीकांत और एचएस प्रणॉय के बिना ही सेमीफाइनल में उतरी. वहीं, विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता बी साई प्रणीत को एंथोनी गिंटिंग के खिलाफ अपना मुकाबला बीच में ही छोड़ना पड़ा. इससे मलेशिया को 1-0 की बढ़त मिल गई.

हालांकि 18 वर्षीय लक्ष्य सेन ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा और उन्होंने वर्ल्ड नंबर सात जोनाथन क्रिस्टली को 21-18, 22-20 से हराकर भारत को मुकाबले में 1-1 से बराबरी पर ला दिया.

इसके बाद पुरुष युगल में मोहम्मद एहसान और हेंड्र सेतियावान की जोड़ी ने एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला को 21-10 14-21 23-21 से हराकर इंडोनेशिया को आगे कर दिया. लेकिन शुभांकर डे ने शेसार हिरेन गिडीओन को 21-17, 21-15 से हराकर भारतीय टीम को फिर से मुकाबला में 2-2 की बराबरी दिला दी.

पांचवें मैच में मार्कस फेरनाल्डी गिडीओन और केविन संजया सुकामुल्जो की जोड़ी ने लक्ष्य और चिराग शेट्टी की जोड़ी को 24 मिनट में 21-6 21-13 से हराकर इंडोनेशिया को फाइनल में पहुंचा दिया.