नई दिल्ली: कोरोना की वजह से बैंकों के कामकाज के तरीके में भारी बदलाव होने जा रहा है. इंडियन बैंक एसोसिएशन (IBA)ने कुछ चुनींदा इलाकों में ही ब्रांच ओपन रखने और कामकाज के तरीके में बदलाव के निर्देश दिए हैं. HDFC बैंक और ICICI बैंक ने इसकी शुरुआत भी कर दी है.

आईबीए ने सभी बैंकों से कहा था कि वे कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए देश के लॉकडाउन वाले इलाकों में कुछ चुनींदा ब्रांचेज ही खोलें. बैंक प्रमुखों को भेजे लेटर में आईबीए ने यह अनुरोध किया है कि वे अपने कारोबार को बनाए रखने की एक उपयुक्त योजना के लिए राज्य प्रशासन के साथ मशविरा कर काम करें.

एसोसिएशन ने बैंक ग्राहकों से भी अनुरोध किया है कि वे लेनदेन के लिए ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन और मोबाइल बैंकिंग चैनल का इस्तेमाल करें और जहां तक संभव हो बैंक की शाखाओं में न जाएं ताकि कर्मचारियों को किसी तरह के जोखिम का सामना न करना पड़े.

निजी क्षेत्र के HDFC बैंक तथा ICICI बैंक ने अपने कामकाज में कुछ बदलावों की सूचना ग्राहकों को दी है. बैंकों ने अपने ग्राहकों से कहा है कि वे ज्यादा से ज्यादा डिजिटल ट्रांजैक्शंस का इस्तेमाल करें. दोनों बैंकों ने एहतियातन अपने ऑफिसेज में कर्मचारियों की संख्या भी कम कर दी है.

एचडीएफसी बैंक ने अपने कामकाज के समय में बदलाव किया है. अब यह बैंक 31 मार्च तक सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक खुला रहेगा. बैंक ने पासबुक अपडेट तथा फॉरेन करेंसी परचेज की सुविधाओं को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया है.

एचडीएफसी बैंक ने शाखाओं में भीड़भाड़ कम करने के लिए चेक ड्रॉप बॉक्स में ही चेक डालने को कहा है. बैंक ने कहा है कि पासबुक अपडेशन तथा फॉरेक्स कार्ड रीलोड की सुविधा ग्राहक डिजिटल माध्यम से उठा सकते हैं. साथ ही ग्राहक एनईएफटी, आरटीजीएस, आईएमपीएस तथा यूपीआई जैसे डिजिटल ट्रांजैक्शंस सेवाओं का फायदा उठा सकते हैं. बैंक ने कहा है कि ग्राहक यूपीआई तथा पेजैप के जरिए यूटिलिटी बिल्स का भुगतान कर सकते हैं.

वहीं, आईसीआईसीआई बैंक ने अपने ग्राहकों को एसएमएस के जरिए सूचित किया, 'हमारी सभी शाखाओं में साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जाएगा तथा कर्मचारियों की संख्या कम रहेगी.' बैंक ने कहा, 'हमारे कॉन्टैक्ट सेंटर में भी कर्मचारियों की संख्या कम रहेगी. हम आपसे सुरक्षित रहने का आग्रह करते हैं और तमाम जरूरी बैंकिंग सेवाओं के लिए घर से ही आईमोबाइल/इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करें.'