रायपुर : छत्तीसगढ़ में 2 सीटों पर होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के उम्मीदवार केटीएस तुलसी और फूलो दवी नेताम ने नामांकन दाखिल कर दिया है. विधानसभा में सीएम भूपेश बघेल समेत कई मंत्रियों की मौजूदगी में दोनों प्रत्याशियों ने अपना पर्चा भरा.

माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी, माननीय प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम जी एवं विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत जी की उपस्थिति में आज विधानसभा में श्रीमती फूलोदेवी नेताम जी और श्री के.टी.एस. तुलसी जी ने राज्यसभा सदस्य के लिए नामांकन दाखिल किया। pic.twitter.com/4sU2DMwyF1

— INC Chhattisgarh (@INCChhattisgarh) March 13, 2020

आपको बता दें कि कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम की मौजूदगी में उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप दिया गया था. मीटिंग की जानकारी देते हुए मरकाम ने कहा था कि छत्तीसगढ़ में दो राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने हैं और उम्मीद है कि दोनों सीटें कांग्रेस के पक्ष में जाएगी.

बीजेपी नहीं उतारेगी उम्मीदवार
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ से राज्यसभा की दो सीट मोतीलाल वोरा और रणविजय सिंह जूदेव का कार्यकाल पूरा होने के बाद खाली हो रही हैं. कांग्रेस के 69 विधायक होने के कारण दोनों सीट पर कांग्रेसी उम्मीदवार की जीत तय मानी जा रही है. वहीं, संख्या बल में कमजोर होने के कारण बीजेपी ने उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है.

कांग्रेस ने खेला आदिवासी कार्ड
फूलो देवी को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाकर कांग्रेस ने आदिवासी वोट बैंक को साधने की कोशिश की है. प्रदेश में कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष, युवक कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष आदिवासी बाहुल्य बस्तर से हैं. ऐसे में राज्यसभा से एक आदिवासी को भेजकर कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है.

वहीं केटीएस तुलसी ने कई बड़े मामलों की पैरवी की है. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के पति राबर्ट वाड्रा के कई मामलों की कोर्ट में तुलसी पैरवी करते हैं.