छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के 5 दिन में ही 75 हजार से अधिक किसानों को 471 करोड़ रुपए से अधिक का भुगतान कर दिया गया है. धान का ये पैसा सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा हो रहा है. बता दें कि राज्य में 2048 धान उपार्जन केंद्रों के माध्यम से धान खरीद हो रही है.

सरकारी आकंड़ों के मुताबिक, अब तक प्रदेश के 75,813 किसानों को 471 करोड़ 86 लाख रुपए का भुगतान सीधे उनके बैंक खातों में कर दिया है. सबसे ज्यादा भुगतान महासंमुद जिले में किया गया है. जहां पर 10,115 किसानों को 70 करोड़ 67 लाख 12 हजार रुपए उनके खाते में सीधे दिए गए हैं. बता दें कि प्रदेश में एक दिसबंर से समर्थन मूल्य 1810 और 1835 रुपए में किसानों से धान की खरीदी हो रही है. किसानों से धान खरीदी का सिलसिला 15 फरवरी तक चलता रहेगा.

बता दें कि इस बार सरकार ने छत्तीसगढ़ में धान खरीदी का लक्ष्य 85 लाख मेट्रिक टन रखा है. जिस पर खरीदी के 7 दिन पूरे हो चूके हैं. धान की राशि सीधा किसानों के बैंक खातों में भेजी जा जारी है. जिसकी जानकारी किसानों को SMS के जरिए मिल रही है. बता दें कि पहले किसानों को राशि के लिए बैकों पर खड़े होकर पैसों के लिए इंतजार करना पड़ता था. लेकिन, भूपेश सरकार किसानों की समस्या को देखते हुए इस साल से डायरेक्ट किसानों के खाते में राशि पहुंच रही है. वहीं, समय पर भुगतान राशि मिलने से किसान भी खुश नजर आ रहे हैं. किसानों का कहना है कि समय रहते भुगतान हो रहा है. जो भी कर्ज सोसायटी में था उसे काटकर बचत की राशि उनके खातो में आ रही है.

आकाड़ों के मुताबिक अब तक महासमुंद में सबसे ज्यादा 10,115 किसानों को 70 करोड़ 67 लाख 12 हजार का भुगतान किया गया है. रायपुर में 9,956 किसानों को 60 करोड़ 39 लाख 56 हजार का भुगतान किया गया, बस्तर के 628 किसानों को 4 करोड़ 17 लाख 96 हजार का भुगतान, दंतेवाडा में 40 किसानों को 13 लाख 56 हजार का भुगतान किया गया है.

उधर, कांकेर में 1354 किसानों को 8 करोड़ 92 लाख 57 हजार का भुगतान, कोडागांव में 700 किसानों को 4 करोड़ 60 लाख 36 हजार का भुगतान, नाराणयपुर में 121 किसानों को 66 लाख का भुगतान, बिलासपुर में 2717 किसानों को 16 करोड़ 88 लाख 44 हजार का भुगतान किया गया है.

जांजगीर चांपा में 949 किसानों को 6 करोड़ 82 लाख 49 हजार का भुगतान हो चुका है. कोरबा में 246 किसानों को 1 करोड़ 52 लाख 71 हजार का भुगतान, मुंगेली में 2088 किसानों को 11 करोड़ 52 लाख 71 हजार का भुगतान. रायगढ में 4310 किसानों को 33 करोड़ 89 लाख 59 हजार का भुगतान, बालोद में 4165 किसानों को 23 करोड़ 23 लाख 33 हजार का भुगतान, बेमेतरा में 3142 किसानों को 23 करोड़ 5 लाख, दुर्ग में 4421 किसानों को 27 करोड़ 13 लाख 51 हजार, कर्वधा के 1136 किसानों को 6 करोड़ 14 लाख 72 हजार का भुगतान, राजनांदगांव के 7673 किसानों को 42 करोड़ 21 लाख 57 हजार का भुगतान, बालौदाबजार में 4908 किसानों को 28 करोड़ 2 लाख 24 हजार का भुगतान किया गया है.

वहीं, धमतरी के 9429 किसानों को अब तक 56 करोड़ 47 लाख 95 हजार का भुगतान हो चुका है. गरियाबंद में 6359 किसानों को 35 करोड़ 56 लाख 77 हजार का भुगतान, बलरामपुर में 15 किसानों को 12 लाख 62 हजार का भुगतान, जशपुर में 383 किसानों को 2 करोड़ 95 लाख 34 हजार का भुगतान, कोरिया के 129 किसानों को अब तक 94 लाख 15 हजार का भुगतान, सरगुजा में 626 किसानों को 4 करोड़ 32 लाख 9 हजार का भुगतान, सूरजपुर के 203 किसानों को 1 करोड़ 44 लाख 97 हजार का भुगतान किया गया है.