नई दिल्ली: हैदराबाद कांड के आरोपियों के एनकाउंटर पर तेलंगाना पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस कमिश्नर वी सी सज्जनार ने कहा कि आरोपियों ने हथियार छीनकर पुलिस पर फायरिंग की. इसके जवाब में फायरिंग के दौरान चारों आरोपियों की मौत हुई.

हैदराबाद कांड के आरोपियों के एनकाउंटर पर पुलिस कमिश्नर वी सी सज्जनार ने कहा, आरोपियों के शवों की डीएनए जांच कराई जा रही है, जांच के बाद शव परिवार को सौंप देंगे. आर्म्स एक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि हमने आरोपी व्यक्तियों से दो हथियार भी जब्त किए हैं. आरोपियों के शव को पीएमई के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है.

सज्जनार ने कहा कि मुठभेड़ के समय आरोपी व्यक्तियों के साथ लगभग 10 पुलिस वाले थे. हमने घटनास्थल पर पीड़ित का सेलफोन बरामद किया है. उन्होंने कहा कि हमें संदेह है कि आरोपी कर्नाटक में कई अन्य मामलों में भी शामिल थे, जांच जारी है.

बता दें कि आज सुबह हैदराबाद गैंगरेप को चारों आरोपी मारे गए हैं. तेलंगाना पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया है. पुलिस इन चारों आरोपियों को घटना के रिकंस्ट्रक्शन के लिए वारदात की जगह ले जा रही थी, जहां से इन चारों लोगों ने भागने की कोशिश की और पुलिस का हथियार छीनकर फायरिंग करने की कोशिश भी की. इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया.

चारों आरोपी 10 दिन के लिए पुलिस रिमांड में थे. इन चारों आरोपियों का नाम शिवा, नवीन, केशवुलू और मोहम्मद आरिफ था. आज सुबह पुलिस चारों आरोपियों को बस में वारदात की जगह लेकर आई थी. बड़ी बात यह है कि पुलिस ने इन लोगों का एनकाउंटर उसी हाईवे पर किया है, जहां इन चारों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया था और उसे जलाकर मार दिया था.

27 नवंबर की घटना से हिल गया था देश
गौरतलब है कि हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में 27 नवंबर की रात को चार ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर ने मिलकर महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और पेट्रोल जलाकर मारने जैसे अपराध को अंजाम दिया था. इस घटना के बाद से दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की मांग को लेकर देश भर में प्रदर्शन हो रहे थे.