पाल। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच हुई बयानबाजी के बाद कांग्रेस में गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है। सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच हुई बयान बाजी के बाद प्रदेश सरकार के दो मंत्री इमरती देवी और प्रदुमन सिंह तोमर पहले ही सिंधिया के साथ सडक़ों पर उतरने का एलान कर चुके हैं। वहीं अब सिंधिया समर्थक उनसे कांग्रेस से अलग होकर उनके पिता माधवराव सिंधिया की पार्टी मध्य प्रदेश विकास कांग्रेस को एक बार फिर पुनर्जीवित करने की मांग कर रहे है। इन सब के बीच प्रदेश सरकार में सहकारिता मंत्री डॉ.गोविंद सिंह ने सिंधिया समर्थकों को आड़े हाथ लिया और ऐसे लोगों को पार्टी से बाहर निकालने की बात कही है।

बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए सहकारिता मंत्री डॉक्टर गोविन्द सिंह ने सिंधिया सर्मथकों द्वारा सोशल मीडया पर स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की पार्टी पुन: जीवित करने की मांग पर प्रतिक्रिया देते हुए सिंधिया समर्थकों पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि जो लोग इस तरह की बाते कर रहे है उनको तत्काल पार्टी छोड़ देना चाहिए। जिसकी पार्टी में निष्ठा नही है उन्हें एक मिनट भी पार्टी में रहने का अधिकार नही है। उन्होंने कहा कि मैं पार्टी संगठन से अपील करुंगा कि ऐसे लोगो की पार्टी से निकल दें।

वहीं अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे को लेकर हो रही राजनीति पर सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यह संदेश फैलाना चाह रहे है कि ट्रम्प हमारे दोस्त है और उनको भारत लाकर बड़ी घोषणा करवाऊँगा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ये चाहते थे कि ट्रम्प से फर्जी घोषणा करवाएंगे लेकिन मैं अमेरिका राष्ट्रपति को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने पहले ही सब साफ कर दिया की वो कोई घोषणा नही करेंगे। सहकारिता मंत्री सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी और आरएसएस का एजेंडा है झूठ बोलो और षडयंत्र फैलाओ। इसी एजेंडे पर काम करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झूठ बोलकर सत्ता में आये है।

प्रियंका गांधी चाहे तो फैसला ले सकती है
मप्र से राज्यसभा के लिए प्रियंका गांधी को भेजे जाने की मांग पर सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं को अतिउत्साहित होना ठीक नही है। जो लोग यह माँग उठा रहे है क्या उन्होंने प्रियंका गांधी से बात की है। प्रियंका गांधी अगर चाहे तो खुद ये फैसला ले सकती है।