योग करने से न केवल आपका शरीर स्ट्रांग बनता है बल्कि आप मानसिक तल पर भी मजबूत बनते हैं। आज जहां कोरोना वायरस के कारण कुछ लोग शारीरिक रुप से परेशान हैं, वहीं कुछ लोग इस वायरस के बारे में सोच-सोच कर परेशान हैं। ऐसे में जरुरत है योग से जुड़े इन तथ्यों के बारे में आपको जानकारी होना..

क्या है योग?
योग एक संस्कृत शब्द है, जिसे संस्कृत भाषा से लिया गया है। योगा का मतलब केवल शारीरिक रुप से खुद को मजबूत बनाना नहीं, बल्कि मानसिक तौर पर भी खुद को कोरोना वायरस जैसी हर स्थिति के लिए तैयार रखना है।

आज हर इंसान खुद को कोरोना से बचाने के लिए तरीके ढूंढ रहा है। अब तक अमेरिका जैसे विकसित देश में 3485 कोरोना के केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 65 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है।

Harvard Medical School में हुई एक स्टडी के मुताबिक योग आपको मानसिक शांति देने के साथ-साथ एक अलग खुशी भी देता है। वो खुशी शायद कोरोना जैसा कोई भी डर आपसे छीन नहीं सकता। योग करने से आप खुद को स्ट्रेस-फ्री महसूस करते है, आपकी इम्यून पॉवर स्ट्रांग बनती है।

अभी शुरु न करें...
अक्सर कुछ भी अच्छा पढ़ने के बाद लोग तुरंत उस चीज को फॉलो करने लगते हैं। मगर आज वातावरण का जो हाल हो चुका है, उसका कुछ न कुछ असर आपकी सेहत पर होगा ही। ऐसे में योग जैसी फिजिकल एक्टिविटी शुरु करने पर हो सकता है, आपको कुछ नेगेटिव चीजों का सामना करना पड़े, जैसे कि सांस फूलना, थकावट या फिर कुछ भी और। ऐसे में इन दिनों जितना हो सके घर के अंदर रहें, अच्छी-अच्छी चीजों का सेवन करें। अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग करने के लिए विटामिन-सी युक्त चीजों का सेवन करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
यहां तक कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आपको योग करने की सलाह देते हैं। उनके मुताबिक “Yoga is above religion, caste, colour, gender and region — it is above everything. Let our motto be Yoga for peace, harmony and progress”.