मर गई इंसानियत मगर इंसान जिंदा है, जिस्म को नोच खाने वाला वो शैतान जिंदा है। क्या लपक हेडिंग लगाया है-दुष्कर्मियों देख लो अंजाम। हैदराबाद के चारों दरिंदों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। अब इस मामले के पक्ष-विपक्ष में बहस शुरु हो गई है। बाकी ज्यादातर लोगों को पुलिस का ये आॅन द स्पॉट फैसला पसंद आ रहा है। भास्कर विचार में अखबार ने सवाल उठाया है कि अब निर्णायक कानून की बहुत जरूरत है। उधर उन्नाव में जला दी गई दुष्कर्म पीड़िता ने भी कल प्राण त्याग दिए। पचमढ़ी में सेना के ट्रेनिंग सेंटर में दो संदिग्ध अफसर बनके घुस गए और दो इंसान राइफल ले भागे। सवाल ये उठ रिया हेगा के सेना का ट्रेंनिंग सेंटर हे या कोई धरमशाला। नरसिंहपुर के दूल्हे को भोपाल की एक दुल्हन डमा देगे चार लाख की चोट देके भाग गई।