तुमने इक बार भी नहीं सोचा, और बस उसके शरीर को नोचा, फूल सी मासूम कली थी वो, जिसका तुमने गला दबोचा। फांसी का फंदा सामने दिखने लगा तो निर्भया का एक गुनहगार फांसी से छूट चाह रहा है। उसके अजीबो गरीब कुतर्क बयां करती खबर यहां भरपूर आई। भोपाल के एक स्कूल के स्टोर रूम में युवक की लाश मिलने वाली खबर भी यहां मौजूद है। बीसीएलएल से लाल बसें तो संभल नहीं रहीं और अब ये भोपाल में 100 इलेक्ट्रिक बसें चलाने की तैयारी में है। साथ ही हबीबगंज के रीडेवलपमेंट में हो रही देरी वाली खबर भी सलीके की आई। ये सांची के पास 220 करोड़ में गोल्फ कोर्स की क्या तुक हेगी साब। इससे अच्छा कुछ ऐसा निवेश होता जिसमें लोगों को रोजगार मिलता। शहर काजी सैयद मुश्ताक अली साब ने मुस्लिमों की शादी में फिजूलखर्ची रोकने की पहल उम्दा करी।