नई दिल्ली: पुरानी दिल्ली के फिल्मिस्तान इलाके के पास लगी भीषण आग  के मामले में आज पुलिस कोर्ट में आरोपी रेहान और फुरकान को पेश करेगी. रेहान बिल्डिंग का मालिक है और फुरकान उस फैक्ट्री का मैनेजर है जहां रविवार को लगी भीषण आग में 43 लोगों की मौत हो गई थी. सदर बाजार पुलिस स्टेशन में इन दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 और 308 के तहत केस दर्ज किया गया है. अगर आरोप साबित होता है तो इन्हें 10 साल की सजा या उम्रकैद हो सकती है.

यह आग रानी झांसी रोड पर फिल्मिस्तान सिनेमा के पास अनाज मंडी  इलाके में लगी थी. यहां एक घर में अवैध फैक्ट्री चल रही थी.

थाना सदर बाजार में दर्ज की गई एफआईआर के मुताबिक, 'सदर बाज़ार थाने की पुलिस को 8.12.2019 की सुबह 5 बजकर 22 मिनट पर जानकारी मिली की मकान नम्बर 2272 में अनाज मंडी नियर फिल्मिस्तान सदर बाज़ार हॉउस नम्बर 2272 घर में आग लग गई है इंजर्ड है या नहीं ये अभी पता नहीं है. फिर SI संदीप को कॉल बतलाई गई..और कॉन्स्टेबल के साथ मौके पर पहुंच गए..डीडी नम्बर 6A दर्ज हुई..मौके पर देखा की ग्राउंड फ्लोर को मिलाकर पांच मंजिला बिल्डिंग है और दूसरी -तीसरी और चौथी मंजिल पर आग लगी हुई थी..और बिल्डिंग की खिड़कियों से भी आग का धुआं निकल रहा था..घटना स्थल पर पीसीआर, फायर की गाड़ियां भी आ गई थी..आग पर काबू करने का प्रयास किया जा रहा था...आग व धुंआ अधिक होने के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही थी.'

एफआईआर के मुताबिक, साढ़े 3 घण्टे के ऑपरेशन के बाद फायर ब्रिगेड स्टाफ़ द्वारा आग पर पूरी तरह से काबू पाया गया. इसके बाद मोबाइल क्राइम टीम के घटना स्थल पर आने पर मोबाइल क्राइम टीम के साथ बिल्डिंग के अंदर निरीक्षण करने पर मुझे भूतल पर बहुत अधिक मात्रा में गत्ते की शीट्स के बंडल रखे मिले, प्रथम तल पर मिरर के फ्रेम और गत्ते की शीट मिली, दूसरे तल पर आग लगने के कारण मिरर के फ्रेम व गत्ते की शीट्स जली हुई मिली..तीसरी तल पर सिलाई मशीन व कपड़ों के जले हुए रोल पाए गए व चौथे तल पर बैग की सिलाई की मशीनें तथा बैग बनाने की सामग्री जली हुई अवस्था में मिली.. क्राइम टीम द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण किया गया व फोटोग्राफ लिए गए.और घटना स्थल पर FSL रोहिणी की टीम भी आई जिन्होंने बताया की अभी घटना स्थल आग के कारण बहुत गर्म है इसलिए नमूने अभी नहीं उठाए जा सकते.'