नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने देश के 21 राज्यों की राजधानी में पीने के पानी की गुणवत्ता के आधार पर कैरिंग जारी की है. केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने आज यह रैंकिंग जारी की. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई ने 21 शहरों की इस रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया है. इसका मतलब है कि देश में पीने लायक सबसे शुद्ध पानी मुंबई में हैं. वहीं लिस्ट में सबसे आखिरी नाम देश की राजधानी दिल्ली का है, यानी यहां का पानी पीने के लिहाज से बिल्कुल खराब है.

इस लिस्ट को जारी करते हुए राम विलास पासलान ने कहा, ''हम किसी को दोष नहीं दे रहे हैं, हमारी कोशिश लोगों को स्वच्छ पानी देने की है. जांच में पता चला दिल्ली का पानी पीने लायक नहीं, पीने के पानी को लेकर देशभर से शिकायतें आ रही थीं.'' उन्होंने कहा कि मुंबई पानी हर मानक पर पास हुआ. हम इस तरह की जांच आगे भी करेंगे.

लिस्ट को जारी करते हुए केंद्रीय मंत्री पासवान ने एबीपी न्यूज़ का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि मैं देख रहा था एबीपी न्यूज़ तचैनल ने अभी एक घंटे का प्रोग्राम दिखाया जिसमें अलग अलग शहरों के पानी की गुणवत्ता को लेकर बात हुई. इसमें भी मुंबई में सबसे शुद्ध पानी था.

किस शहर का पानी किस नंबर पर ?
1. मुंबई
2 हैदराबाद
3. भुवनेश्वर
4. रांची
5. रायपुर
6. अमरावती
7. शिमला
8. चंडीगढ़
9. त्रिवेंद्रम
10. पटना
11. भोपाल
12. गुवाहाटी
13. बेंगलुरू
14. गांधीनगर
15. लखनऊ
16 जम्मू
17. जयपुर
18. देहरादून
19. चेन्नई
20. कोलकाता
21. दिल्ली

10 मानकों के आधार पर तय हुई है रैंकिंग
पानी की शुद्धता और गुणवत्ता मापने के लिए 10 मानक तय किए गए थे. जैसे पानी में आर्सेनिक जैसे खतरनाक रसायनों की मौजूदगी. इन्हीं 10 मानकों की कसौटी पर रैंकिंग तैयार की गई है. यहां बताना उचित है कि रैंकिंग उसी पानी की जारी की जाएगी जो इन शहरों में नगर निगम और बाक़ी माध्यमों से।हमारे आपके घरों में पाइप के ज़रिए पहुंचता है.