दिवाली का त्यौहार अपने साथ रौनक और खुशिया ही नहीं बल्कि हैल्थ प्रॉब्लम्स भी लेकर आता है। जी हां, जहां दिवाली की मिठाईयां पेट से जुड़ी परेशानियों का कारण बनती हैं वहीं इस दौरान पटाखों से होने वाला धुंआ व शौर भी सेहत को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में आज हम आपको कुछ टिप्स देंगे, जिससे आप दिवाली सेलिब्रेट करने के साथ-साथ खुद को भी हैल्दी रख पाएंगे।
अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आप यूं रखें अपनी सेहत का ख्याल...

  • मसालेदार व मीठे से परहेज करें और बैलेंस डाइट जैसे फल, ड्राई फ्रूट्स, शुगर फ्री फूड्स लें
  • शुगर लेवल जांच कराते रहें।
  • हर 2 घंटे बाद कुछ न कुछ खाते रहें।
  • पानी की मात्रा अधिक बढ़ा दें। सलाद अधिक से अधिक खाएं लें।
  • एक्सरासइज जरूर करें और पटाखों के धुएं से भी खुद को सुरक्षित रखें।
  • एक फूड डायरी बनाएं ताकि आप इस दिन ज्‍यादा ना खा पाएं।

अगर आप अस्थमा पेशेंट हैं तो...

  • वायु प्रदूषण और धूल से सुरक्षित रहने के लिए फेस मास्‍क पहनें।
  • अपने साथ हमेशा इन्हेलर रखें, ताकि सांस लेने में प्रॉब्‍लम या खांसी होने पर आप इसका इस्‍तेमाल कर सकें।
  • खाने पर कंट्रोल रखें और हैल्दी डाइट लें।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं।
  • दिवाली के तुरंत बाद वॉक करने के लिए बाहर ना जाएं क्‍योंकि हवा में बहुत ज्‍यादा प्रदूषण होता है।
  • बेचैनी और घुटन महसूस होने पर तुरंत अपने डॉक्‍टर के पास जाएं।

चलिए जानते हैं दिवाली के दौरान आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए...
सबसे जरूरी है यह काम
दिवाली सेलिब्रेशन की भागदौड़ में लोग अपनी सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं और पानी नहीं पीते लेकिन इससे बॉडी डिहाइड्रेट हो सकती है। ऐसे में जरूरी है कि आप भरपूर पानी पीएं।

थोड़ा-थोड़ा खाएं
दिवाली के दिनों में फिट रहने के लिए आप एकसाथ भरपेट न खाएं बल्कि थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल में खाते रहें। आप खाने में सलाद, फ्रूट्स इत्यादि लें इससे आपकी डाइट भी बैलेंस रहेगी और आपकी सेहत भी नहीं बिगड़ेगी।

मिठाइयों का कम सेवन
खुशी-खुशी में आप इतनी मिठाईयां खा लेते हैं कि अगले 3-4 दिन तक पेट में किसी ओर चीज के लिए जगह ही नहीं बचती। नतीजा एसिडिटी, पेट दर्द और हार्ट बर्न। बेहतर होगा कि आप दिवाली में कम से कम मिठाईयों का सेवन करें। जिन लोगों को डायबिटीज हैं उन्हें मिठाइयों से खासी दूरी बनानी चाहिए।

ज्यादा खाने की आदत पर करें कंट्रोल
आमतौर पर त्यौहारों के मौकों पर आप अपनी खान-पान की आदतों को कंट्रोल नहीं कर पाते, जिसके नुकसान बाद में झेलना पड़ता हैं। ऐसे में बेहतर होगा कि आप इस दौरान कम से कम खाएं।

ज्यादा से ज्यादा लें प्रोटीन
फेस्टिव सीजन में प्रोटीन से भरपूर चीजें जैसे ड्राई फ्रूट्स में बादाम, अंजीर आदि खाएं। इसके अलावा आप अपनी डाइट में ब्राउन राइस, रागी, सूप और फल भी ले सकते हैं।

क्या खाएं और किससे करें परहेज

  • सबसे पहले तो बाजारू मिठाई खाने से बचें। इसकी बजाए आप घर पर ही मिठाई बनाएं
  • ज्यादा से ज्यादा फल, घर का बना खाना, ड्राई फ्रूट्स खाएं।
  • कोल्ड ड्रिंक्स के जगह पर नींबू पानी, नारियल पानी या फ्रूट्स जूस पीएं।
  • चांदी की कोटिंग वाली मिठाइयों से बचें, क्‍योंकि यह एल्‍यू‍मीनियम में कवर होती हैं और बॉडी टिश्‍यु में जमा हो जाते हैं।
  • आजकल 'मिठाई' और स्‍नैक्‍स, लो-फैट, लो-शुगर और बेक्‍ड आते हैं, इसलिए पारंपरिक मिठाई की जगह इन्‍हें लेना चाहिए।
  • पटाखों से भी रहें दूर

जहां पटाखों का शोर ध्वनि प्रदूषण फैलता है वहीं, इसका धुआं भी सेहत के लिए हानिकारक होता है। ऐसे में पटाखों से बचना सबसे जरूरी है।

  • छोटे बच्चों को पटाखों से दूर रखें।
  • आंखों पर चश्मा लगाकर पटाएें जलाएं क्योंकि इससे आंखों को बचाना बहुत जरूरी है।
  • पटाखे जलाते समय पैरों में चप्पल या जूते जरूर पहनें।
  • पटाखे खुले स्थान पर जलाएं। कभी भी घर के अंदर या बंद स्थान पर पटाखे ना जलाएं।
  • पटाखे जलाते समय आस-पास में पानी रखें और घर में जल जाने पर लगाई जाने वाली दवाएं भी रखें।
  • अपने चेहरे को पटाखे जलाते समय दूर रखें।
  • पटाखे को शीघ्रजलने वाले पदार्थों से दूर रखें।
  • जल जाने पर पानी के छीटें मारें।
  • सूती कपड़े पहनें, सिंथेटिक नहीं, क्योंकि सिंथेटिक कपड़े आग आसानी से पकड़ते हैं।

एक्सरसाइज भी है जरूरी
फेस्टिवल के दौरान अपना वर्कआउट मिस न करें और सुबह एक्सरसाइज जरूर करें। सुबह योग जरूर करें, ताकि आप दिनभर फ्रैश रहें।