ज्यादातर भारतीय लोग अपने दिन की शुरूआत 1 कप चाय पीकर ही करते हैं लेकिन ज्यादा पीना सेहत के लिए हानिकारक होता है। मगर अब चाय प्रेमियों के लिए खुशखबरी है! शोधकर्ताओं ने पाया है कि सप्ताह में कम से कम 3 बार चाय पीना लंबे और स्वस्थ जीवन से जुड़ा हुआ है।

चीन में पेइचिंग के मैडीकल अकादमी ऑफ मैडीकल साइंस के प्रथम लेखक जिनान वांग ने कहा, ' आदिकालीन चाय का सेवन दिल के रोग और मृत्यु के कम जोखिम से जुड़ा है। हरी चाय के लिए और दीर्घकालिक अभ्सयस्त चाय पीने वालों के लिए अनुकूल स्वास्थ्य प्रभाव सबसे मजबूत है'।

यूरोपिय जर्नल ऑफ प्रिवैंटिव कार्डियोलॉजी में प्रकाशित इस विश्लेषण में चीन - पी.ए.आर. प्रोजैक्ट -2 में शामिल 1,00,902 प्रतिभागियों का दिल का दौरा, स्ट्रोक या कैंसर का कोई इतिहास नहीं था। प्रतिभागियों को 2 समूहों में वर्गीकृत किया था। पहले वर्ग में अभयस्त चाय पीने वाले (हफ्ते में 3 या अधिक बार और कभी नहीं) तथा दूसरे वर्ग में गैर अभयस्त (हफ्ते में 3 बार से कम) थे। इन प्रतिभागियों पर 7 साल 3 मीहीने तक अध्ययन किया गया।

अध्ययन में सामने आया कि कभी नहीं या गैर-अभ्यस्त चाय पीने वालों की तुलना में आदतन चाय पीने वालें लोगों को दिल के रोग और स्ट्रोक का 20% कम जोखिम था। आदतन चाय न पीने वालों की तुलना में, रोजाना चाय पीने वालों लोगों में दिल के रोग और स्ट्रोक का खतरा 20 प्रतिशत कम जोखिम था। इतना ही नहीं, घातक दिल के रोग और स्ट्रोक का 22 प्रतिशत कम जोखिम और 15 प्रतिशत किसी भी कारण मृत्यु का जोखिम कम हो गया।

कौन-सी चाय पीना है फायदेमंद?
ग्रीन टी, अदरक की चाय, मसाला टी, ब्लू टी, ब्लैक टी और गुड़हल चाय जैसी हर्बल टी आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकती है। साथ ही इस बात का ख्याल रखें कि अगर आप दूध वाली चाय पी रहे हैं तो उसे खाली पेट ना पीएं। इसके अलावा चाय में चीनी की बजाए शहद का यूज करें।