भोपाल: झाबुआ उपचुनाव के चलते आज शाम पांच बजे चुनाव प्रचार का शोर थम जाएगा। प्रचार प्रसार के अंतिम दिन बीजेपी और कांग्रेस के बड़े नेता अपनी-अपनी ताकत झोंकेंगे। इस चुनाव के लिए दोनों दलों ने अब तक खूब प्रचार किया है क्योंकि दोनों के लिए ही ये जीत बड़ी जरूरी है। जिसके चलते पूर्व CM शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार से ही झाबुआ में डेरा डाले हुए हैं। वहीं अब मुख्यमंत्री कमलनाथ भी आज झाबुआ में अपना दमखम लगाएंगे।

दरअसल, 21 अक्टूबर को झाबुआ में उपचुनाव हैं। जबकी 23 तारीख तक परिणाम आ जाएंगे। एक ओर जहां कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को मैदान में उतारा है। तो वहीं दूसरी ओऱ बीजेपी ने युवा नेता भानु भूरिया को अपना प्रत्याशी बनाया है। वहीं बीजेपी ने एक ओर जहां कांग्रेस पर किसानों से वादाखिलाफी का आरोप लगाया, तो वहीं कांग्रेर कर्मजाफी को ही अपनी ताकत बता रही है। इस बीच शुक्रवार को चुनाव प्रचार के दौरान शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया, शिवराज के कार्यक्रम देख सीएम कमलनाथ ने भी अचानक राणापुर में एक चुनावी रैली का कार्यक्रम तय कर लिया। आज दोनों ही बड़े नेता जनता को रिझाने के लिए अंतिम दिन अपना दम दिखाएंगे।

ये चुनाव दोनों के लिए इसलिए जरूरी है क्योंकि अगर कांग्रेस इस चुनाव को जीतने में सफल रहती है तो वह अल्पमत से बाहर आ जाएगी, और उसके विधायकों की संख्या 115 हो जाएगी, जिसके चलते सरकार गिरने का डर भी खत्म हो जाएगा। तो वहीं बीजेपी इस लिए इस चुनाव में जीत चाहती है कि 1 सीट की बढ़त से बीजेपी की सीटों में बढोत्तरी होगी, साथ ही कांग्रेस भी अल्पमत में ही रहेगी।