विकास तिवारी, भोपाल। नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष पद से हटने के बाद भी रजनीश वैश्य सरकारी गाड़ी, बंगले और अमले का भरपूर उपयोग कर रहे है। उन्होंने ना तो सरकारी बंगला ही खाली किया है और ना ही उन्होंने सरकारी वाहन वापस किया है। पद से हटने के बाद इन अफसरों को छह माह और सरकारी आवास रखने की पात्रता होती है। इस अफसर के पास यह पात्रता नवंबर में समाप्त हो चुकी है लेकिन उन्होंने अभी तक यह आवास खाली नहीं किया है। वे अभी भी एनवीडीए के सरकारी वाहन सियाज कार एमपी 02, एवी 3397 और जिप्सी कार एमपी 02, 2239 का अवैधानिक रूप से उपयोग कर रहे है। केवल बंगला और गाड़ी ही नहीं इनके सरकारी बंगले पर अभी भी तीन-चार सरकारी अर्दली काम कर रहे है। खुद एनवीडीए के कर्मचारी भी अफसर का यहां कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी उनके निवास पर गाड़ी, वाहन और अमले की तैनाती पर आश्चर्यचकित है। दरअसल सरकारी नौकरी से सेवानिवृत्त होने के बाद आईएएस अफसर यहां सदस्य के पद पर जुगाड़ जमा कर पदस्थ हो जाते है। लंबे समय तक यहां पदस्थ रहने का फायदा उठाकर अफसर यहां के वाहन और अमले का भी पद से हटने के बाद भी उपयोग करते रहते है।

होगी कार्रवाई
आप मेरी जानकारी में लाए हैं। यदि एनवीडीए के अधिकारी यहां से हटने के बाद भी वाहन और अमले का उपयोग कर रहे है तो इसकी जांच करवाकर वाहन वापस लिया जाएगा। इसके लिए दोषियों पर कार्रवाई भी होगी।