रायपुर : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ छत्तीसगढ़ में एफआईआर दर्ज की गई है. यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद्र पाढ़ी की शिकायत पर रायपुर जिले के सिविल लाइंस थाने में संबित पात्रा के खिलाफ आइटी एक्ट और आइपीसी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.

पुलिस के मुताबिक, पाढ़ी ने शिकायत की थी कि बीजेपी प्रवक्ता पात्रा ने 10 मई को ट्वीट कर दो पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और राजीव गांधी पर कश्मीर मामले और सिख विरोधी दंगे व बोफोर्स घोटाले को लेकर झूठा आरोप लगाया था.

पाढ़ी ने कहा कि दोनों पूर्व पीएम को किसी भी भ्रष्टाचार और दंगों से संबंधित मामले में दोषी नहीं ठहराया गया है. जब देश कोरोना जैसी चुनौतियों से लड़ रहा है तो ऐसे में इस तरह का ट्वीट करना धार्मिक समूहों, समुदायों के बीच सद्भाव के लिए नुकसानदायक है. इससे शांति भंग होने की भी आशंका है.

वहीं, रायपुर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने सोमवार को बताया कि जिले के सिविल लाइंस थाने में पुलिस ने यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद्र पाढ़ी की शिकायत पर संबित पात्रा के खिलाफ केस दर्ज किया है. मामले की जांच की जा रही है.

संबित पात्रा की अपने ट्वीट पर प्रतिक्रिया...

वाक़ई घोर कलियुग आ गया है चोरों को चोर कहो तो थाने में जा के रपट लिखाते है ...
घोर कलियुग!!
जाओ कांग्रेसीयों और रो रो के टीचर से कम्प्लेन करो।
भाइयों और बहनो इस पोस्टर को इतना retweet करो की ये पोस्टर हर घर तक पहुँच जाए
जय हो🤓 pic.twitter.com/yAfii8Z7uR

— Sambit Patra (@sambitswaraj) May 10, 2020

 

इधर, राज्य के बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि सत्ताधारी दल सत्ता का दुरुपयोग विरोधी दल के नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज करने के लिए कर रहा है.