जबलपुर : मध्य प्रदेश के ज़बलपुर ज़िले में स्थित आयुध निर्माणी खमरिया में देर रात एक धमाका हुआ. विस्फोट होते साथ ही आग भी तेजी से भड़क उठी, गनीमत ये रही कि कोई भी कर्मचारी इस हादसे में घायल नहीं हुआ. देर रात नाइट शिफ्ट में कार्यरत कर्मचारी हादसे की चपेट में आने से  बाल बाल बचे.  कर्मचारियों ने फायर ब्रिगेड की मदद से एफ12 सेक्शन में लगी इस आग को मुस्तैदी से बुझा दिया.

फैक्ट्री में हादसा होते ही जोरदार सायरन बजा जिससे वहां तैनात कर्मचारियों में अफरा-तफरी मच गई. हालात देखते हुए एफ12 सेक्शन में मौजूद तमाम बमों को आनन-फानन में हटाया गया. हादसा रात करीब 11 बजे के आसपास का बताया जा रहा है. फैक्ट्री प्रबंधन की ओर से इस मामले में अब तक कोई बयान जारी नहीं किया गया है. बताया जाता है कि ये घटना एफ12 सेक्शन की बिल्डिंग नंबर 770 में हुई है. घटना को लेकर जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं.

साल 2020 का ये पहला हादसा है जिसे लेकर 'बोर्ड ऑफ इंक्वायरी' जांच की जाएगी. गौरतलब है कि बीते 5 सालों में ओएफके यानि आयुध निर्माणी खमरिया में एक दर्जन से अधिक बड़े या छोटे हादसे हो चुके हैं. ओएफके से भारतीय सेना को सप्लाई होने वाले 60 प्रतिशत गोला बारूद का निर्माण इसी फैक्टी में किया जाता है. बमों का निर्माण बेहद संवेदनशील प्रक्रिया से जुड़ा होता है जिसमें ज़रा सी लापरवाही बड़ी घटना में तब्दील हो सकती है. देर रात हुए हादसे मे कोई हताहत नहीं हुआ है लेकिन फिर भी घटना किस वजह से हुई इस बात का पता लगाया जा रहा है.