मुंबई: महाराष्ट्र में महिलाओं को जिंदा जलाने की लगातार घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, जिसकी वजह से महाराष्ट्र सरकार पर लगातार सवालिया निशान उठ रहे हैं. ताजा मामला नासिक के लासलगांव का है जहां एक महिला पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी. जिसके बाद महिला करीब 70 फीसदी तक जल गई. घटना की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे नाशिक पहुंचे और महिला की हाल जाना. सीएम ठाकरे ने कहा कि महिला को न्याय मिलेगा. इसके साथ ही उन्होंने महिला को उचित उपचार का आश्वासन दिया.

पुलिस की एफआईआर के मुताबिक शनिवार को नाशिक के लासलगांव करीब शाम चार बस स्टॉप पर एक महिला पहुंची. थोड़ी देर बाद वहां एक लड़का आया और दोनों के बीच झगड़ा हुआ और लड़के ने महिला पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी. शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला कि महिला के पति की पहले ही मौत हो चुकी है और आरोपी का महिला से प्रेम प्रसंग का मामला चल रहा था. किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ और युवकर ने महिला आग के हवाले कर दिया.

पुलिस ने बताया की युवक ने महिला के ऊपर पेट्रोल डालकर उसे जलाने की कोशिश की लेकिन फिर पीड़ित महिला ने अपना बयान बदलते हुए कहा की अपनी गाड़ी में पेट्रोल डालने के लिए वो खुद पेट्रोल लेकर आई थी, पीड़ित महिला के बयान बदलने के बाद ये मामला उलझ गया. फिलहाल पुलिस ने उस लड़के को भी हिरासत में ले लिया है.

वहीं पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि महिला ने अगर खुद से अपने ऊपर पेट्रोल डाल लिया, तो आग किसने लगाई. फिलहाल 70 फीसदी जल चुकी इस महिला का मुंबई के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. पीड़ित महिला के बयान बदलने के बाद पुलिस इस मामले को लेकर उलझ गई है.

महाराष्ट्र में जिंदा जलाने की एक महीने में चार घटनाएं
पिछले एक महीने में महाराष्ट्र में महिलाओं को जिंदा जलाने की चार घटनाएं सामने आ चुकी हैं. पहली घटना वर्धा के हिंगणघाट में हुई. इस वारदात ने पूरे प्रदेश में सनसनी फैला दी थी. कॉलेज में पढ़ाने वाली एक 24 वर्षीय टीचर को पेट्रोल से जलाकर जान से मारने की कोशिश की गई. पुलिस के मुताबिक आरोपी पीड़ित महिला से एकतरफा प्यार करता था. मंगलवार को जब पीड़ित महिला कॉलेज जा रही थी तभी आरोपी विकेश नगराले रास्ते में टीचर का रास्ता रोका और फिर अपनी बाइक से ही पेट्रोल निकालकर उस टीचर पर डाल दिया. एक हफ्ते के बाद पीड़िता ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था. इस घटना की महाराष्ट्र समेत पूरे देश में निंदा की गई.

औरंगाबाद में 50 वर्षीय महिला को जलाने की कोशिश
वहीं औरंगाबाद के सिल्लोड तहसील के अंधारी गांव में भी एक महिला को जिंदा जलाने की घटना सामने आई थी. पुलिस के मुताबिक 50 वर्षीय पीड़ित महिला जब अपने घर में अकेली थी तभी आरोपी संतोष मोहिते उसके घर पहुंचा और उससे जबरन शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास किया. महिला ने जब इससे इंकार किया तो उसने घर में ही उसे जिंदा जलाने की कोशिश की. पुलिस के मुताबिक आरोपी बियर बार चलाता था और वो महिला से एकतरफा प्यार करता था. पीड़ित महिला 90 फीसदी जल चुकी थी जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है और आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

काशीमीरा में केस वापस लेने के दबाव में महिला पर डाला पेट्रोल
आग से जिंदा जलाने की तीसरी घटना मुंबई से सटे काशीमीरा इलाके में घटी जहां एक विवाहिता ने पुलिस में एक शख्स के खिलाफ जबरन बलात्कार करने का मामला दर्ज कराया था. पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला पर आरोपी की तरफ से लगातार रेप का केस वापस लेने के लिए दबाव डाला जा रहा था. घटना वाले दिन जब वो अपने दो बच्चों के साथ घर से बाहर निकली थी तभी आरोपी वहां पहुंचा और उस पर पेट्रोल डालकर उसे जलाने की कोशिस की. इस मामले में भी आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

वहीं महाराष्ट्र में लगातार महिलाओं को जिंदा जलाने की घटनाओं के चलते महिलाओं की सुरक्षा को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर अब दबाव बढ़ता जा रहा है. यही वजह है कि जैसे ही महाराष्ट्र सरकार को पता चला कि नाशिक में फिर महिला को जिंदा जलाने की कोशिश की गई उद्धव ठाकरे ने तुरंत वहां का दौरा किया और घटना की जल्द से जल्द जांच के आदेश दिए.