मुंबई: महाराष्ट्र के पालघर लोकल क्राइम ब्रांच की वसई टीम ने एक नकली शराब बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. लोगों को लाखों की नकली विदेशी शराब बेचने वाले इस गिरोह के तीन लोग गिरफ्तार किए गए हैं. गौरतलब है कि पिछले कई महीनों से इस इलाके में यह गिरोह सक्रिय था. ये गिरोह जूनी बोतलों में नकली विदेशी शराब भरकर ग्राहकों को बेचता था.

ग्राहकों को शक ना हो इसके लिए गिरोह के लोग बोतल पर मेड इन गोवा का नकली स्टीकर लगाकर उन्हें ठगते थे और तगड़ा मुनाफा कमाते थे. इस गिरोह की भनक लगते ही वालीव पुलिस स्टेशन के लोकल क्राइम ब्रांच टीम ने इनके अड्डे पर छापा मारा और तीन लोगों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया. वहीं एक व्यक्ति फरार है. पुलिस ने मौके से नकली स्टीकर और लाखों की नकली शराब बरामद की है.

पालघर लोकल क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक रविंद्र नाईक ने बताया कि हमें खबर मिली कि वसई पूर्व के झीबलपाड़ा इलाके में कुछ लोग दनकली शराब बेचने का गैर कानूनी व्यपार कर रहे हैं. उचित कार्रवाई करने के लिए हमने एक विशेष टीम तैयार की है. छापेमारी के दौरान टीम को झीबलपाड़ा, सुदामा नगर चॉल के पीछे एक पतरा शेड में चार लोग बैठे मिले. हमें देखकर सभी ने मौके से फरार होने की कोशिश की लेकिन हमने उन्हें धर दबोचा.

टीम ने अलग-अलग ब्रांड वाली खाली व्हिस्की की छोटी बड़ी साइज की सैकड़ों बोतलें सहित विविध विदेशी शराब कंपनियों के स्टीकर बरामद किए हैं.  इतना ही नहीं पुलिस ने इस गिरोह के अड्डे से एक मोटरसाइकिल सहित लाखों का माल बरामद किया है. कुल मिलाकर 1 लाख 26 हजार 739 रुपये का माल जप्त किया गया है. इस मामले में पुलिस ने राजू राममोहन निशाद, शिव बाबु निशाद और उदल अमरनाथ निशाद को गिरफ्तार किया है. मौके से फरार आरोपी द्वारका मुकुन चौरसिया की तलाश की जा रही है. सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 420,34 और अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है.