भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 255 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 256 रन चाहिए. ऑस्ट्रेलिया ने यहां टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था जहां टीम ने भारत को 300 तक पहुंचने नहीं दिया. 13 रन पर रोहित शर्मा का पहला विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया के बल्लेबाज शुरू से ही संभल कर खेल रहे थे. क्रीज पर बल्लेबाजी के लिए शिखर धवन और केएल राहुल आए.

दोनों बल्लेबाजों ने एक हद तक टीम इंडिया की पारी को संभाले रखा और काफी संभल कर टीम के स्कोर को आगे बढ़ाना शुरू किया. दोनों के बीच शतकीय साझेदारी भी देखने को मिली. इस बीच धवन ने अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन तभी 134 रनों के स्कोर पर केएल राहुल 47 रन बनाकर पवेलिनय लौट गए. इसके बाद धवन का साथ देने क्रीज पर विराट आए. लेकिन तुरंत क्रीज पर सबसे सेट बल्लेबाज नजर आ रहे धवन भी 74 रन बनाकर पवेलियन लौट गए.

टीम ने 150 के भीतर 3 विकेट गंवा दिए थे इसके बाद कप्तान कोहली से कुछ रन की उम्मीद थी लेकन वो भी जाम्पा को एक आसान सा कैच दे बैठे और 16 रन बनाकर आउट हो गए. विराट कोहली जब आउट हुए तो टीम का स्कोर 156 पहुंच चुका था. विराट के बाद श्रेयस अय्यर भी पवेलियन लौट गए.

क्रीज पर अब जडेजा और पंत थे. दोनों ने पारी को संभालना शुरू किया. लेकिन इस बीच ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी अटैक टीम पर काफी हावी लग रहा था. जैसे ही टीम 200 का आंकड़ा पहुंची सेट बल्लेबाज जडेजा 25 रन बनाकर आउट हुए तो वहीं 229 के स्कोर पर पंत भी 28 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद शार्दुल ठाकुर ने कुछ अच्छे शॉट्स लगाने शुरू किए लेकिन वो भी 13 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद कुलदीप और शमी ने टीम को 250 के पार पहुंचाया ऐसे में टीम इंडिया ने 50 ओवरों में 256 रन बनाए.

ऑस्ट्रेलिया की अगर बात करें तो मिचेल स्टार्क ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 3 विकेट लिए तो वहीं पैट कमिंस ने 2, केन ने 2 और जाम्पा, एश्टन के खाते में 1-1 विकेट गए.