भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे तीसरे और फाइनल वनडे मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया जहां टीम ने 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 286 रन बनाए. अब यहां टीम इंडिया को दूसरे इनिंग्स में जीत के लिए 287 रन बनाने हैं. ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी की अगर बात करें तो डेविड वॉर्नर एक बार फिर सस्ते में पवेलियन लौट गए और उन्हें शमी ने 3 रन पर पवेलियन भेज दिया.

इसके बाद क्रीज पर पिछले मैच में शानदार प्रदर्शन करने वाले स्मिथ आए. उन्होंने फिंच के साथ जैसे ही पारी को आगे बढ़ाना शुरू किया तभी दोनों के बीच तालमेल की कमी के कारण फिंच 19 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद स्मिथ का साथ देने मार्नस लाबुशैन आए. दोनों ने मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाना शुरू किया. स्मिथ ने इस दौरान अपना अर्धशतक पूरा किया तो वहीं मार्नस ने भी कुछ देर बाद अपना अर्धशतक पूरा किया. दोनों ने मिलकर 127 रनों की साझेदारी की.

जब लाबुशैन आउट हुए तब ऑस्ट्रेलिया ने 3 विकेट खोकर 173 रन बना लिए थे. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इसके बाद गेंदबाज मिचेल स्टार्क को भेजा लेकिन उन्हें जडेजा ने 0 पर पवेलियन भेज दिया. स्मिथ फिर भी रन बनाए जा रहे थे. इसके बाद उनका साथ देने एलेक्स कैरी आए और उन्होंने तेजी से रन बनाना शुरू किया. दोनों ने टीम को 238 रनों तक पहुंचाया. इस बीच वो 35 रन बनाकर आउट हुए लेकिन तब तक स्मिथ अपना शतक पूरा कर चुके थे.

कैरी के आउट होने के बाद स्मिथ का साथ देने एश्टन टर्नर आए लेकिन वो भी 4 रन बनाकर आउट हो गए. स्मिथ ने इसके बाद तेजी से रन बनाना शुरू किया. लेकिन अंत में वो भी 131 रन बनाकर आउट हो गए. उन्हें शमी ने आउट किया. अंत में कमिंस और अगर ने मिलकर टीम को स्कोर को 286 रनों तक पहुंचाया. यहां ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट गंवाएं.

भारत की तरफ से विकेट की अगर बात करें तो बुमराह को एक भी विकेट नहीं मिला, मोहम्मद शमी को 4 विकेट मिले, सैनी को 1, कुलदीप यादव को 1 और जडेजा को 2 विकेट मिले.