लद्दाख : भारत और चीन के सैन्य अधिकारियों के बीच शनिवार को लद्दाख में जारी तनाव पर अहम बैठक होने वाली है. भारतीय सेना के ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह भारत की ओर से बैठक की अगुवाई करेंगे. वह अन्य अधिकारियों के साथ चुशूल के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना हो चुके हैं.

चीनी सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक से पहले भारतीय दल का नेतृत्व कर रहे लेफ्टिनेंट जनरल हरिन्दर सिंह ने भारत के कमांडरों के साथ बात की और लद्दाख में हालात का जायजा लिया.

बैठक की जगह टकराव की जगह से 20 किलोमीटर की दूरी पर है. जहां बैठक हो रही है वो जगह चीनी नियंत्रण में स्थित मोल्डो में स्थित है. भारत और चीन के बीच मौजूदा विवाद को निपटाने के लिए दोनों देशों के बीच कॉर्प कमांडर स्तर पर यह बैठक बुलाई गई है.

दोनों देशों के सैन्य अधिकारी सीमा पर जारी तनाव को लेकर बातचीत करेंगे. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में भारत जोर देगा कि अप्रैल में जो स्थिति लद्दाख इलाके में थी, वही चीन बरकरार रखे.

इसके अलावा भारत की मांग है कि चीन एलएसी के पास के इलाकों से अपनी सेना के साथ पीछे हटे. चीन सीमा पर तैनात हथियारबंद और बख्तरबंद गाड़ियों को पीछे ले जाए. भारतीय सेना पैंगोंग त्सो पर जारी विवाद को खत्म करने के लिए चीन पर दबाव बनाएगी.

चीन के साथ विवाद पर भारतीय सेना ने एक बयान जारी कर कहा है कि सीमा विवाद सुलझाने की कोशिश जारी है. सेना ने कहा कि भारत और चीन के अधिकारी सैन्य और कूटनीतिक चैनल के जरिए भारत-चीन बॉर्डर पर पैदा हुए तनाव को दूर करने की कोशिश कर रहे है. सेना ने मीडिया से अपील की है कि इस घटनाक्रम को लेकर बिना आधार के और किसी भी तरह की रिपोर्टिंग न करें.