इस्लामाबादः पाकिस्तान नागर विमानन प्राधिकरण के एक हवाई यातायात नियंत्रक ने एक भारतीय विमान के पायलट से आपात संदेश मिलने के बाद विमान को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाया। जयपुर से ओमान की राजधानी मस्कत जाने वाले विमान के पायलट ने खराब मौसम के कारण यह संदेश जारी किया था। विमानन प्राधिकरण से जुड़े सूत्रों ने बताया कि दक्षिणी सिंध प्रांत के चोर इलाके में विमान का असामान्य मौसमी स्थितियों से सामना हुआ।

‘द न्यूज इंटरनेशनल' की एक खबर के अनुसार विमान में 150 यात्री सवार थे। विमान बृहस्पतिवार को कराची क्षेत्र के ऊपर से उड़ान भर रहा था तभी विमान आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया और लगभग उसी वक्त वह 36,000 फुट की ऊंचाई से गिरकर 34,000 फुट की ऊंचाई पर आ गया। नतीजतन पायलट ने आपात प्रोटोकॉल जारी किया और पास के स्टेशनों को ‘‘खतरे'' की सूचना दी। पाकिस्तान के हवाई यातायात नियंत्रक ने पायलट की चेतावनी पर तुरंत प्रतिक्रिया की और आसपास के क्षेत्र में विमान को शेष यात्रा के लिए पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में घने हवाई यातायात के माध्यम से निर्देशित किया।

इस साल भारत के साथ गतिरोध के मद्देनजर करीब पांच महीने के प्रतिबंध के बाद पाकिस्तान ने 16 जुलाई को अपने हवाई क्षेत्र भारत के लिये खोल दिये थे। बालाकोट हवाई कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था। पिछले महीने कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा के मद्देनजर उनके वीवीआईपी विमान के लिये अपने हवाईक्षेत्र के इस्तेमाल से इनकार कर दिया था। पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाये जाने और उसे दो केंद्र शासित क्षेत्रों में विभाजित करने के भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान ने उसके साथ राजनयिक संबंध घटा दिया था।