काबुल: तालिबान के साथ सुलह के लिए अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि जलमई खलीलजाद दोहा पहुंच गए हैं, जहां वह जल्द ही तालिबान वार्ताकारों के साथ फिर से वार्ता शुरू करेंगे. टोलो न्यूज के मुताबिक, अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को घोषणा की थी कि वे शांति वार्ता में फिर से शामिल होंगे, जिसके बाद खलीलजाद शुक्रवार को कतर की राजधानी दोहा पहुंचे.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा काबुल में तालिबान के हमले के बाद तीन महीने पहले बातचीत के एक शुरुआती दौर को रद्द कर दिया गया था. हमले में एक अमेरिकी सैनिक की मौत हो गई थी. सूत्रों ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिका के साथ एक समझौते को अंतिम रूप देने के बाद, तालिबान हिंसा के स्तर को कम करने के लिए प्रतिबद्ध होगा.

दोहा पहुंचने से पहले, खलीलजाद दो दिनों के लिए काबुल में थे, जिस दौरान उन्होंने अफगानिस्तान के शीर्ष सरकारी अधिकारियों और पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई सहित प्रमुख राजनेताओं के साथ बातचीत की. करजई के पूर्व सलाहकार, शहजादा मसूद ने कहा, "तीन विषयों पर चर्चा हुई.

पहले अमेरिका और तालिबान अपनी सीधी बातचीत फिर से शुरू करेंगे, और वे हिंसा में कमी और अंतर-अफगान वार्ता पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करेंगे." खलीलजाद ने काबुल यात्रा के दौरान अफगान सरकार से एक समावेशी प्रतिनिधिमंडल बनाने का प्रयास करने के लिए आग्रह किया.