आजकल लोग घर में गार्डन बनवाए चाहे ना बनवाए लेकिन इंडोर प्लांटिंग करना तो हर कोई पसंद करता है। इससे घर की डैकोरेशन के साथ-साथ उसे ताजगी और ईको-फ्रेंडली टच भी मिल जाता है। इनडोर प्लांटिंग के लिए आपको एक्स्ट्रा स्पेस की टेंशन भी नहीं लेनी पड़ी लेकिन जिस तरह गार्डन के पेड़-पौधों को खास देखभाल की जरूरत होती है उसी तरह इंडोर प्लांट्स को भी होती है।

किसी भी पौधे के लिए सबसे जरूरी चीज होती है पानी लेकिन जरूरत से ज्यादा पानी पौधों को खराब कर देता है। दरअसल, इंडोर प्लांट्स में पोटिंग मिट्टी का यूज किया जाता है, जिसे नम रखना चाहिए गीला नहीं। ओवरवॉटरिंग पौधों को मार सकती है। ऐसे में इंडोर प्लांट्स को पानी देने के लिए स्प्रे बोतल का इस्तेमाल करें। साथ ही दिन में 2 बार यानि सुबह-शाम ही पौधों पर पानी का छिड़काव करें।

चूंकि पौधों को भी सनबर्न हो सकता है इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि उन्हें ज्यादा धूप ना लगे। अक्सर लोग इंडेर प्लांट्स को खिड़की के पास रख देते हैं, जहां उन्हें अधिक धूप मिलती है और वो खराब हो जाते हैं। प्लांट्स को ऐसी जगह रखें जहां सूरत की रोशनी बराबर मात्रा में आती हो।

पौधों को थोड़ा नम माइक्रॉक्लाइमेट रखने के लिए उन्हें बर्तन में रखने के बाद पानी और कंकड़ से भर दें। इससे वो ओवरवॉटर भी नहीं होंगे और उनमें नमी भी बनी रहेगी।

अगर पौधे हल्के मुरझाएं या तनावग्रस्त हैं तो उन्हें फर्टिलाइज्ड (निषेचित या खाद डालना) ना करें जब तक कि वो पूरी तरह ठीक ना हो जाए।

इनडोर प्लांटिंग में लगाएं ये पौधे

एलोवेरा
डैकोरेशन बढ़ाने के साथ-साथ एलोवेरा का पौधा गर्मियों में घर को ठंडा भी रखता है। साथ ही इससे हवा भी शुद्ध होती है।

बैंबू पाम
हल्की नमी वाले इस पौधे को आप घर के किसी भी कोने में लगा सकते हैं। यह हवा में नमी और वातावरण को भी ठंडा रखने में मद करता है।

रबर प्लांट
यह प्लांट घर की हवा से विषैले तत्वों, खासतौर पर फोर्मलडीहाइड को दूर रखता है। आप इसे बालकनी में लगाकर घरकी शोभा बढ़ा सकते हैं।

स्नेक प्लांट
सफेद या पीले रंग की पत्तियों वाले इस पौधे से आप घर को डैकोरेट कर सकते है। अधिक मात्रा में कार्बन डाइऑक्साइड अपने अंदर लेने वाले यह पौधा सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है।