नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी के घरेलू सर्किट में लगातार रन बनाने के बावजूद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उन्हें ज्यादा मैच खेलने के मौके नहीं मिलें. चोट की वजह से तिवारी लगातार टीम इंडिया से अंदर और बाहर होते रहे. इसके परिणामस्वरूप, उन्होंने फरवरी 2008 में अपने अंतरराष्ट्रीय डेब्यू के बाद से सिर्फ 12 एकदिवसीय और तीन टी20 मुकाबले खेले हैं. सोमवार को तिवारी की पत्नी सुष्मिता रॉय ने 'आईपीएल फ्रीक' नाम से एक क्रिकेट फैन पेज का स्क्रीनशॉट पोस्ट किया, जिसमें भारत के फ्लॉप क्रिकेटर्स इलेवन में बंगाल के क्रिकेटर का भी नाम शामिल था. सुष्मिता ने प्रोफाइल बनाने वाले व्यक्ति पर जमकर भड़ास निकाली और उनसे तथ्यों की जांच करने के लिए कहा.

उन्होंने कहा कि, आप जो भी हैं, लेकिन आपने इस तरह का साहस कैसे किया कि मेरे पति का नाम फ्लॉप क्रिकेटरों में डाला. बेहतर है पहले आप अपने तथ्यों की जांच करिए. लोगों के बारे में इस तरह की पोस्ट डालने से पहले कुछ सोचिए. हालांकि, इसके बाद उन्होंने अपना इंस्टाग्राम अकाउंट प्राइवेट कर दिया.

2020 में, तिवारी ने रणजी ट्रॉफी में बंगाल के लिए अपना पहला तिहरा शतक बनाया. 34 वर्षीय इस खिलाड़ी का औसत प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 50 से अधिक है जहां 8,965 रन के साथ 196 पारियों में 27 शतक और 37 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं वनडे क्रिकेट में, उन्होंने 153 पारियों में 5,466 रन बनाए हैं, जिसमें छह शतक और 40 अर्धशतक शामिल हैं.

बंगाल में जन्मे तिवारी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2012 की विजेता टीम कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) का हिस्सा थे. उन्होंने नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए 3 गेंदों में 9 रन बनाकर केकेआर को चेन्नई के खिलाफ 191 रनों के टारगेट को चेस करने में मदद की थी.

तिवारी एक दशक से अधिक समय तक आईपीएल खेला है. उन्होंने 98 मैचों में 28.72 की औसत से 1,695 रन बनाए हैं जिसमें सात अर्धशतक शामिल हैं