लखनऊ : मौलाना सलमान नदवी ने मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली पर गंभीर आरोप लगाए हैं. मौलाना नदवी ने ईदगाह में दीया जलाने को लेकर मौलानी रशीद फिरंगी पर नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा है कि मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली से ईदगाह की इमामत छीन ली जाए. इसे दूसरे को सौंप दी जाए.

मौलाना सलमान नदवी ने अपने बयान में मौलाना खालिद रशीद को हुकूमत का एजेंट बताया. उन्होंने कहा कि लखनऊ वाले अब खालिद रशीद के पीछे ईद की नमाज़ ना पढ़ें. खालिद रशीद से ईदगाह की इमामत छीनकर मुफ़्ती अबुल इरफ़ान या अन्य किसी को देने की वकालत भी उन्होंने की है. मौलाना सलमान नदवी ने कहा कि खालिद रशीद अब इस लायक नहीं वो ईदगाह की इमामत करें.

दरअसल, मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कोरोना से बचाव के लिए पीएम मोदी के समर्थन में ईदगाह में टॉर्च जलाकर रोशनी की थी. इस्लामिक सेंटर की ओर से जारी संदेश पर सुन्नी धर्मगुरु मौलाना रशीद फरंगी महली ने अपील की थी कि लोग कोरोना से बचाव के लिए हुकूमत और डॉक्टर के मशवरों पर अमल करें.

उन्होंने लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील की थी. साथ ही मशविरा दिया था कि खांसी आने पर रूमाल रखें, नजला बुखार होने पर डॉक्टर से जांच कराएं. साफ़-सफाई का ध्यान रखें और दिन में कई बार हाथों को सैनिटाइज करें. मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने लोगों से अपील की थी कि वे नमाज घर पर ही पढ़ें, बीमारी के खात्मे के लिए दुआ करें. शब-ए-बारात पर कब्रिस्तान ना जाकर घर में ही इबादत करें. अपने मुल्क और दुनिया से कोरोना के खात्मे के लिए दुआएं करें.