प्रशासनिक संवाददाता, भोपाल : पुलिस मुख्यालय की क्यूडी शाखा इन दिनों स्टाफ की कमी से जूझ रहा है। इसके चलते यहां पर एक हजार से ज्यादा दस्तावेजों की जांच अधूरी पड़ी हुई है। पुलिस भर्ती नहीं होने से यहां पर जांच की पेंडेंसी तेजी से बढ़ रही है। क्यूडी शाखा में पुलिस के अलावा प्रदेश सरकार और प्रदेश के सभी जिलों से जांच के लिए दस्तावेज पुलिस मुख्यालय भेजे जाते हैं। यहां पर हर साल करीब ढाई हजार दस्तावेज जांच के लिए आते हैं। दस्तावेज में छेड़छाड़, फर्जी तरह से दस्तावेज बनाने जैसे महत्वपूर्ण जांच इस शाखा के अधीन है। ऐसे दस्तावेजों को  प्रशासन, सरकार और पुलिस सीधे इस शाखा को जांच के लिए भेज देती है।

अलग से होती है ट्रेनिंग
इस शाखा के लिए उपनिरीक्षकों की अलग से ट्रेनिंग होती है। वर्ष 2017 की पुलिस भर्ती में इस शाखा के लिए भी उपनिरीक्षकों की भर्ती होना थी, लेकिन भती को लेकर अब तक शासन स्तर से कोई आदेश नहीं मिलने के चलते यह अटकी हुई है।

कितने पद है खाली
निरीक्षक के यहां पर 23 पद स्वीकृत है, लेकिन पदोन्नति पर रोक होने के चलते शाखा में सिर्फ तीन ही निरीक्षक बचे हैं। वहीं भर्ती नहीं होने के चलते उपनिरीक्षकों के तीन आधा दर्जन से ज्यादा पद खाली पड़े हुए हैं। डीएसपी के पद भी यहां पर खाली है।