मुंबई : गेटवे ऑफ इंडिया पर हुए प्रदर्शन में 'फ्री कश्मीर' पोस्टर दिखाए जाने वाले मामले में मुंबई पुलिस जांच बंद करने की तैयारी में है. बता दें कि जेएनयू हिंसा और नागरिकता कानून के खिलाफ 6 जनवरी को गेटवे ऑफ इंडिया पर हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान महक नामक युवती ने 'फ्री कश्मीर' का पोस्टर दिखाया गया था. जिसके बाद पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एफआईआर दर्ज की थी. महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार के गृह मंत्रालय ने इस पर जांच के आदेश भी दिए थे लेकिन अब खबर आ रही है कि राज्य सरकार ने इस मामले में नरम रुख अपना लिया है. ऐसा बताया जा रहा है कि मुंबई पुलिस इस केस को बंद करने की तैयारी में है.  महाराष्ट्र सरकार के इस रवैये पर राज्य बीजेपी के नेता एतराज़ जता रहे हैं.

6 जनवरी को मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर एक महिला प्रदर्शनकारी का वीडियो भी सामने आया था. इस वीडियो में महिला, हाथ में फ्री कश्मीर का पोस्टर लिए दिख रही थी. फ्री कश्मीर का मतलब है कि कश्मीर को आजाद करो. इस महिला के खिलाफ मुंबई के कोलाबा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था.

इस मामले में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख का भी बयान सामने आया था. उन्होंने कहा था कि अगर मकसद देश विरोधी होगा तो "फ्री कश्मीर पोस्टर" दिखाने वाली लड़की पर कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी. गृहमंत्री ने यह भी बताया था कि पुलिस ने लड़की की शिनाख्त कर ली है. गौरतलब है कि पांच अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया था. इसके साथ ही जम्मू कश्मीर का विभाजन कर इसे जम्मू कश्मीर और लद्धाख, दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया था.

बता दें कि 5 जनवरी को दिल्ली के जेएनयू में हुई हिंसा के विरोध में मुंबई में भी प्रदर्शन हुआ था. यह हिंसा उस वक्त हुई जब जेएनयू की लेफ्ट की छात्र इकाई के कार्यकर्ता और जेएनयू के टीचर फीस बढ़ोतरी के मुद्दे पर प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान छात्रों के बीच मारपीट हुई और देर रात तक प्रदर्शन हुआ.

गौरतलब है कि जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार (5 जनवरी) की रात को हुई हिंसा के मामले में 20 ज्यादा छात्रों के घायल होने की खबर थी. जेएनयू छात्र संघ ने दावा किया था कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने हिंसा को अंजाम दिया है. वहीं, एबीवीपी ने लेफ्ट विंग पर मारपीट करने का आरोप लगाया है. दरअसल जेएनयू परिसर में रविवार को कुछ नकाबपोश लोगों ने घुसकर छात्रों के साथ मारपीट की और तोड़फोड़ मचाई. नकाबपोश लकड़ी के डंडे और लोहे की छड़ से लैस थे.