जब भोपाल में पाए गए सभी 10 नए संक्रमित हेल्थ डायरेक्टरेट के हैं तो हेडिंग में भी लिखो न साब के सबके सब हेल्थ कर्मी, जैसा के जमातियों के बारे में लिखा जाता रहा है। और हां इन हेल्थ वालो को किसने संक्रमित किया उस अफसर को भी कटघरे में खड़ा करो यार। सूबे में एस्मा लगाए जाने वाली खबर भी यहाँ सेट हो गई। बाकी  इंदौर में जो चालीस नए पोसिटिव मिले हैं उनकी बस्तियों और मरीजों के नाम छापो साब, जैसे कि आप पहले छापते रहे हैं। भोपाल में अब सेम्पल कलेक्शन में तेजी आ गई है। निजी लेब में कोरोना की मुफ्त जांच वाली खबर सभी के काम की है। भोपाल का कोरोना वार रूम पब्लिक के खूब काम आ रहा है। फ्लैगमार्च करके पुलिस ने बताया दिया है कि वो सख्ती करेगी। ऐसे कठिन दौर में भी जननी एक्सप्रेस के चालक पब्लिक से पैसा मां रहे हैं।