यहां भी राफेल की पूजा छाई हुई है। साथ ही निकाय चुनाव अध्यादेश को राज्यपाल की मंजूरी वाली खबर भी भेतरीन सेट हो गई। अब 85 में से 54 वार्ड भोपाल में और 31 कोलार नगर निगम में आएंगे। खबर पढ़ी जाएगी। बाकी दो निगम को लेके भाजपा विधायकों का मानना है कि इससे सांप्रदायिक धु्रविकरण बढ़ेगा। मानसून की वापसी के संकेत वाली खबर भी भेतरीन आई। जूडा और डीन डॉ. अरुणा कुमार के बीच की नाइत्तफाकी उनके इस्तीफे पर समाप्त हुई। जिस महिला की मौत को भास्कर ने पिता द्वारा हत्या करना और पत्रिका ने भाई द्वारा कत्ल करना लिखा उसे नवदुनिया ने संदिग्ध मौत लिखा है। आखिर अखबारों के तथ्यों में इत्ता अंतर क्यों है। निगम की कैरी यॉर आॅन बैग मुहिम अच्छी है। वन विहार की बाघिन प्रिया की मौत वाली खबर भी यहां नुमायां हो रही है। महापौर-अध्यक्ष के चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराने पर भजपा ने खरीद फरोख्त की आशंका जताई है। हालांकी बीस बरस पहले भी ऐसा ही नियम था। टीटी नगर में रावण का पुतला पेट्रोल डालने पर भी नहीं जला।