लाहौर: पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने कहा है कि वे राष्ट्रीय टीम में मजबूरी में उन खिलाड़ियों के साथ खेले थे जो गलत काम कर रहे थे. हफीज ने अपने पूर्व साथी शोएब अख्तर के यूट्यूब चैनल पर कहा कि वे आवाज उठाना चाहते थे लेकिन पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने की चाहत में वह कुछ बोल नहीं पाए. 39 साल के मोहम्मद हफीज ने पाकिस्तान के लिए 218 वनडे मैच खेले हैं. उन्होंने इन मैचों में 6614 रन बनाए और 139 विकेट भी झटके.

मोहम्मद हफीज ने कहा, ‘वो खिलाड़ी मेरे भाइयों की तरह हैं. मैं उनके लिए दुआ भी करता था लेकिन उन्होंने जो किया उसके खिलाफ था. जब मैंने आवाज उठाई, तो मुझसे कहा गया कि वे पाकिस्तान के लिए खेलेंगे और अगर तुम्हे भी खेलना है तो फैसला कर लो कि क्या करना है. मैं इससे सदमे में था.’

मोहम्मद हफीज ने कहा, ‘इसके बाद मैं घर गया. मैंने सलाह ली क्योंकि मैं पाकिस्तान के लिए अपनी सकारात्मक ऊर्जा जाया नहीं करना चाहता था. वे लोग गलत थे इसके बाद भी मैं उनके साथ खेलता रहा.’ मोहम्मद हफीज ने पाकिस्तान के लिए 55 टेस्ट और 89 टी20 मैच खेले हैं.

ऑलराउंडर हफीज ने कहा, उन्होंने कहा, ‘मैं अभी भी कहूंगा कि यह गलत फैसला था और यह पाकिस्तान के लिए कभी भी सही नहीं होगा. इस तरह के खिलाड़ियों को वापस लाना पाकिस्तान के लिए अच्छा नहीं होगा.’ हफीज पाकिस्तान के पाकिस्तान के बेहतरीन ऑलराउंडर में से एक रहे. उन्होंने वनडे में 11 और टेस्ट क्रिकेट में 10 शतक लगाए. इसके अलावा उन्होंने वनडे में 139 और टेस्ट में 53 विकेट भी लिए.