कोरोना रोके नई रुक रिया। शुरू में 20 जमाती पोसिटिव मिलने के बाद जब पल्लवी मेडम पोसिटिव हुईं तो अब 50 हेल्थ डायरेक्टरेट का अमला चपेट में आ गया है। पुलिस वाले भी बिचारे नहीं बच पा रहे। खुदा खेर करे। इस महामारी का क जाने काँ जाके एन्ड होयेगा। एक पत्रकार भी पोसिटिव पाया गया है। उधर ये तय हो गया हैं कि एक झटके में लाकडाउन खत्म नहीं होगा। सूनी वीआइपी रोड देखके बड़ा अफसोस हो रहा है। ऊपरवाला जल्द हालात साजगार करे। लाकडाउन में बेबस गरीब बच्चों को चावल उबाल कर खिला रहे हैं। विकास मिश्र बता रहे हैं कि दवा फैक्टरियां बंद होने से स्टॉक कम हो रहा है। भोपाल मे पोलिस वालों के संक्रमित पाए जाने पर बाहरी जिलों की फोर्स को भोपाल में बुलाने की कवायद वाली खबर लपक आई। भोपाल में पुलिस के फ्लैगमार्च वाला आयटम भी यहां सेट हो गया। जिस डॉक्टर डेहरिया को सीएम ने कर्मवीर बताया था उन्हीं का तबादला करने वाली खबर मुकम्मल रही।