जांजगीर चांपाः जांजगीर चांपा के KSK महानदी पावर प्लांट में चल रहा मजदूरों का अनिश्चितकालीन आंदोलन पुलिस ने जबरन बंद करवा दिया है. आधी रात को धरना स्थल पर पहुंची पुलिस ने धरना दे रहे सभी मजदूरों को हिरासत में ले लिया और सभी को किसी अज्ञात स्थान पर ले गए. इसके साथ ही सुरक्षा दृष्टि से प्लांट के आसपास बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

दरअसल, 35 मजदूरों को निलंबित करने के विरोध में पिछले 38 दिनों से मजदूर आंदोलन कर रहे थे. 2 दिन पहले मजदूरों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी थी. इस आंदोलन की वजह से महानदी पावर प्लांट में 38 दिनों से कामकाज ठप पड़ा था, जिसके चलते पुलिस ने अचानक यहां पहुंचकर धरना बंद कराया.

रात लगभग 12:00 बजे सैकड़ों की तादाद में पहुंचे पुलिसकर्मियों ने केएसके महानदी पावर प्लांट के गेट पर बैठे आंदोलनकारी मजदूरों को समझाने का प्रयास किया. मगर आंदोलनकारी अपने मांगों को लेकर अड़े रहे, जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने सभी मजदूरों को और उनके नेताओं को हिरासत में ले लिया और अज्ञात स्थान पर ले गई. इस मामले में एसडीएम मेनका प्रधान ने बताया कि आंदोलनकारियों की तबीयत बिगड़ने की संभावना को देखते हुए प्रशासन ने यह कदम उठाया है.

गौरतलब है कि पिछले 38 दिनों से केएसके महानदी पावर प्लांट के मजदूर अपने नेताओं को निलंबित किए जाने के खिलाफ अनशन पर बैठे थे. वहीं 17 अक्टूबर से आमरण अनशन प्रारंभ कर दिया गया था, जिसकी वजह से प्रशासन की परेशानी बढ़ गई थी. इसके बाद आज आधी रात को आंदोलन को बलपूर्वक समाप्त कर दिया गया. जिस वक्त पुलिस बल ने करवाई कि उस वक्त लगभग डेढ़ सौ मजदूर मौके पर मौजूद थे पुलिस बल ने आंदोलनकारियों का पंडाल भी उखाड़ दिया है, ताकि दोबारा आंदोलन शुरू न कर सके.