हिसार: हाल ही में रिलीज हुई डायरेक्टर आशुतोष गोवारिकर की फिल्म 'पानीपत' का विरोध अब हरियाणा के हिसार​ जिला तक भी आ पहुंचा है. आज इसी मसले को लेकर नारनौंद में क्रांतिकारी स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन से जुड़े युवाओं ने पुलिस में शिकायत दी है. शिकायत देने वालों में शामिल हरिकेश ढांडा और जितेंद्र कुमार ने आरोप लगाए है कि फिल्म में महाराजा सूरजमल के किरदार को गलत ढंग से पेश करते हुए उनकी छवि को धूमिल​ किया गया है. ऐसे में फिल्म के डॉयरेक्टर आशुतोष गोवरीकर, प्रोड्यूसर सुनीता गोवरीकर और लेखक अशोक चक्रधर के खिलाफ कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए.

साथ ही फिल्म को बैन किए जाने की भी मांग की गई है. रोष जाहिर करने वालों ने नारनौंद पुलिस को बकायदा लिखित में शिकायत दी है. आजाद किसान मिशन की छात्र इकाई क्रांतिकारी स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ने के नेता हरिकेश ढांडा ने बताया कि पानीपत फिल्म में एक व्यक्ति विशेष और एक जाति विशेष को निशाना बनाया गया है.

फिल्म में महाराजा सूरजमल को गलत ढंग से प्रदर्शित करने के कारण फिल्म का विरोध किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि किसी व्यक्ति विशेष और जाति विशेष के खिलाफ टिप्पणी समाज को बांटने वाली होती है. ऐसे में उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है.