राजकोट: पहले टी20 में हारने के बाद टीम इंडिया ने भारत और बांग्लादेश के बीच हुए दूसरे टी20 में शानदार वापसी की. राजकोट में हुए इस मैच में रोहित शर्मा ने अपने 100वें टी20 मैच में कप्तानी पारी खेलते हुए अपनी टीम को जीत दिलाकर सीरीज 1-1 से बराबर कर दी. मैच जीतने के बाद रोहित ने कहा कि राजकोट के हालातों ने उनकी पारी में बहुत मदद की. अब उनकी टीम का इरादा सीरीज जीतने का है.

पहले मैच के बाद शानदार वापसी
पहले टी20 में रोहित शर्मा असफल रहे थे और टीम को मेहमान टीम से 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद गुरुवार को राजकोट में रोहित की पारी के दम पर टीम इंडिया ने बांग्लादेश पर 8 विकेट से दर्ज की. मैच में बांग्लादेश के दिए 154 रन के टारगेट को रोहित ने अपनी तूफानी पारी के दम पर टीम की जीत आसान कर दी. इससे टीम इंडिया ने यह लक्ष्य 16वें ओवर में ही हासिल कर लिया.

क्या कहा रोहित ने पिच के बारे में
मैच के बाद रोहित ने कहा, "मैं जानता था कि यह बल्लेबाजी के लिहाज से एक बढ़िया पिच है और ओस के आने के बाद गेंदबाजों को गेंद पकड़ने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा. हमने इस बात का भरपूर फायदा उठाया. मुझे मालूम था के हालात उपयुक्त थे और मैं चाहता था कि मैं टिककर गेंद हिट करता रहूं. मैं बढ़िया तरीके से मैच खत्म करना चाहते थे. और आगे वेस्टइंडीज के खिलाफ पूरी सीरीज है जिसमें दो टेस्ट मैच भी शामिल हैं."

और भारत की गेंदबाजी
इससे पहले टीम इंडिया के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की जिससे बांग्लादेश की टीम 20 ओवर में छह विकेट खोकर केवल 153 रन ही बना सकी. भारत के लिए युजवेंद्र चहल ने चार ओवरों में 28 रन देकर दो विकेट लिए. रोहित ने गेंदबाजों के बारे में बात करते हुए कहा, "दोनों ही स्पिनर्स एक दूसरे को बहुत अच्छे से समझते हैं. वे कोच और कप्तान से बात करते रहते हैं कि कैसे बेहतर किया जाए. अब वॉशिंगटन सुंदर हमारे नए गेंदबाज हैं."

रोहित की पारी
रोहित ने मैच में केवल 23 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की, लेकिन वे इस फिफ्टी को अपने चौथे टी20 इंटरनेशनल शतक में तब्दील न कर सके. वे छह चौके और छह छक्के लगाकर 13वें ओवर में डीप मिडविकेट पर मोहम्मद मिथुन को कैच दे बैठे. उनकी पारी में 43 गेंदों में 85 रन बने. आउट होने के बाद पवेलियन लौटते समय दर्शकों से उन्हें भरपूर अभिवादन मिला.