प्रयागराज: देश के नामी आईआईटी संस्थानों में शुमार प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी( एमएनएनआईटी ) की एक छात्रा ने संस्थान के एक प्रोफेसर पर छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न का गंभीर आरोप लगाया है. प्रोफेसर पर लगे आरोपों के बाद संस्थान में हड़कंप मच गया है. वहीं संस्थान मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच समिति का गठन कर दिया है. जांच का जिम्मा संस्थान के आंतरिक मामलों की पड़ताल करने वाली ग्रीवांस सेल को सौंपा गया है. ग्रीवांस सेल ने शिकायतकर्ता छात्रा का बयान दर्ज करने के बाद उससे मोबाइल फोन पर आने वाली कॉल्स और मैसेज की डिटेल्स मांगी है. साथ ही आरोपी प्रोफेसर को नोटिस जारी कर उसे अपना पक्ष रखने को कहा है. संस्थान ने इस मामले में जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सख्त कदम उठाए जाने की बात कही है.

संस्थान के कार्यवाहक निदेशक प्रोफेसर मनोज गोरे के मुताबिक यह बेहद गंभीर मामला है और आरोप सही पाए जाने पर ना सिर्फ प्रोफेसर को सस्पेंड कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, बल्कि मामला पुलिस को भी ट्रांसफर किया जाएगा. उनका कहना है कि इस मामले में शुरुआती जांच तीन दिनों में पूरी हो जाने की उम्मीद है.

गौरतलब है कि देश के नामी आईटी संस्थानों में शुमार प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी में पढ़ने वाली एक छात्रा ने शुक्रवार को डायरेक्टर ऑफिस और सिक्योरिटी ऑफिसर को लेटर देकर संस्थान के ही एक प्रोफेसर पर बेहद सनसनीखेज आरोप लगाए. शिकायत में कहा गया है कि प्रोफेसर ना सिर्फ उसे फोन और मैसेज के जरिये अश्लील बातें करते हैं, बल्कि दबाव डालकर उसे बेवजह देर तक अपने पास बिठाते हैं और आपत्तिजनक व्यवहार करते हैं. प्रोफेसर उससे गलत हरकतें करते हैं, जिसकी वजह से वह मानसिक रूप से काफी परेशान है.

शिकायतकर्ता छात्रा ने प्रोफेसर से खतरे की आशंका भी जताई है. वहीं आरोपी प्रोफेसर ने ABP गंगा से फोन पर की गई बातचीत में सफाई पेश करते हुए खुद को बेगुनाह बताया है और कहा है कि इस तरह के आरोपों से वह खुद भी हैरान हैं. वह छात्रा को बेटी की तरह मानते हैं, क्योंकि शिकायतकर्ता छात्रा उनकी बेटी के साथ पढ़ती थी और इसी वजह से अक्सर उनके घर आती थी.