पाना है जो मुकाम वो मुकाम अभी बाकी है, अभी तो आए हैं जमी पे अभी आसमान की उड़ान बाकी है। डॉ. हिमांशु द्विवेदी उस जीवट पत्रकार का नाम है जो ठान लेता है वो कर गुजरता है। छत्तीसगढ़ और मप्र में हरिभूमि अखबार को जमाने वाले हिमांशु ने इसी ग्रुप के आईएनएच न्यूज चैनल को छत्तीसगढ़ का अव्वल चैनल बना दिया है। खबरों की बे्रकिंग से लेके उनकी पेशकश भी अनूठी है। अभी तक रायपुर में आईएनएच और हरिभूमि के दफ्तर अलग अलग हुआ करते थे। इससे खबरों के कॉर्डिनेशन में दिक्कत होती थी। अब वहां दस हजार स्क्वायर फीट की जगह में एक ही छत के नीचे हरिभूमि अखबार और आईएनएच न्यूज चैनल का स्टूडियो बना दिया गया है। बकौल हिमांशु ये सेंट्रल इंडिया के  किसी अखबार और न्यूज चैनल का पहला कॉमन न्यूज रूम है। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कल इस न्यूज रूम की इब्तिदा करी। इस मौके पे राज्य की पूरी कैबिनेट के साथ ही तमाम अफसरान मौजूद रहे। आईएनएच का भोपाल में भी स्टूडियो और ब्यूरो है। हिमांशु कहते हैं कि अब हमारा फोकस मध्यप्रदेश पर होगा। आने वाले दिनों में हम भोपाल के अलावा इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर सहित दूसरे बड़े शहरों में अपने ब्यूरो बढ़ाएंगे। अभी बुंदेली बोली में अमिता पटैरिया और अंकुश की पेशकश बहुत सराही जा रही है। भोत जल्दी बघेली बोली में भी खबरें नुमायां होंगी। बहुत मुबारक हो साब, बढ़े चलो।