आजकल भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई अपने आपको स्वस्थ और फिट रखना चाहता है। आपने अक्सर सुना होगा कि लोग मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने दुबलेपन से परेशान रहते हैं, जिन्हें दुबलेपन से छुटकारा चाहिए होता है। ऐसे में वो लगातार अपनी डाइट में तरह-तरह के बदलाव करते हैं और एक्सरसाइज भी करते हैं लेकिन फिर भी उनका न तो वजन बढ़ता न ही दुबलेपन से छुटकारा मिलता। अगर आप भी दुबलेपन का शिकार हैं तो अब आपको ज्यादा परेशान होने और डाइट में बार-बार बदलाव करने की जरूरत नहीं है। आप सोयाबीन का सहारा लेकर खुद का वजन बढ़ा सकते हैं। हम आपको इस लेख के जरिए बताते हैं कि कैसे आप सोयाबीन से अपना वजन बढ़ा सकते हैं।

सोयाबीन में मौजूदा पोषण
प्रोटीन
सोयाबीन में प्रोटीन की काफी मात्रा मौजूद होती है और स्वस्थ रहने के लिए प्रोटीन की पूर्ति बहुत जरूरी होती है। सोयाबीन की प्रोटीन सामग्री 36-56 फीसदी है। उबले हुए सोयाबीन का एक कप में करीब लगभग 29 ग्राम प्रोटीन होता है।

फैट
सोयाबीन में फैट की मात्रा भी पर्याप्त होती है, जो वजन बढ़ाने के लिए काफी मददगार हो सकती है। वसा की मात्रा शुष्क भार का लगभग 18 फीसदी है - मुख्य रूप से पॉलीअनसेचुरेटेड और मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, थोड़ी मात्रा में संतृप्त वसा के साथ है। सोयाबीन में वसा का प्रमुख प्रकार लिनोलिक एसिड है, जो कुल वसा सामग्री का लगभग 50 फीसदी है।

फाइबर
सोयाबीन में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों ही उचित मात्रा होती है। आपको बता दें कि अघुलनशील फाइबर मुख्य रूप से अल्फा गैलेक्टोसाइड्स होते हैं, जो संवेदनशील व्यक्तियों में पेट फूलना और दस्त का कारण भी बन सकते हैं।

वजन बढ़ाने में मददगार है सोयाबीन
अक्सर कई लोग वजन बढ़ाने को लेकर काफी परेशान रहते हैं, ऐसे में उन्हें ये बात अच्छी तरह समझ जानी चाहिए कि सोयाबीन में वो सभी पोषक तत्व होते हैं जो उनके वजन को बढ़ाने में भी मददगार होते हैं और जो उन्हें स्वस्थ भी रख सकते हैं। जब आप वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हों तो हर दिन अपनी प्रोटीन की जरूरतों को पूरा करना कठिन हो सकता है। सोयाबीन जिसमें प्रति 100 ग्राम सेवारत 36 ग्राम प्रोटीन होता है, यह एक बेहतरीन भोजन हो सकता है जो आपको उन लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करेगा। सोयाबीन आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी आपकी मदद कर सकता है।