कोलंबोः राजधानी कोलंबो में ईस्टर संडे पर चर्च और होटलों में 8 सीरियल ब्लास्ट्स के बाद दहला श्रीलंका अभी भी बारूद के ढेर पर है । रविवार रात को कोलंबो के मुख्य एयरपोर्ट के पास जिंदा बम मिलने के बाद सोमवार दोपहर को  पुलिस ने कोलंबो के मुख्य बस अड्डे पर 87 बम विस्फोटक  बरामद किए हैं। इन विस्फोटकों के मिलने के बाद समझा जा सकता है कि हमलवरों के इरादे कितने खतरनाक थे और वो किस तरह श्रीलंका में तबाही मचाना चाहते थे । जानकारी के अनुसार कोलंबो में बम डिफ्यूज करते समय एक और धमाका हो गया। इस घटना में फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

गौरतलब है कि रविवार को ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में 8 सिलसिलेवार धमाकों में 300 लोगों की मौत हो गई और 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने इन धमाकों के सिलसिले में  कोलंबो से 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हालांकि पुलिस ने गिरफ्तार लोगों की पहचान अभी तक उजागर नहीं की है। इन धमाकों को पिछले एक दशका का सबसे खतरनाक हमला माना जा रहा है।

अभी तक किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. जांच कर रही पुलिस ने एक संगठन पर शक जताया है. श्रीलंका के पुलिस प्रमुख पुजुथ जयसुंदरा ने 10 दिन पहले अलर्ट जारी किया था कि आत्मघाती हमलावरों ने प्रमुख कैथोलिक चर्चो को निशाना बनाने की साजिश रची है.

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने और विस्फोट की तेजी से जांच के लिए अधिकारियों के साथ सहयोग करने का अनुरोध किया. सिरिसेना ने कहा कि मैं इस घटना से स्तब्ध और दुखी हूं. इन जघन्य कृत्यों के पीछे षड्यंत्रों का पता लगाने के लिए इसकी जांच शुरू कर दी गई है. उन्होंने देशवासियों से  शांत रहने और अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है.